भारतीय शिक्षा का इतिहास

भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं प्रमुख घटनाएँ

भारतीय शिक्षा का इतिहास

भारत की शैक्षिक एवं सांस्कृतिक परम्परा विश्व इतिहास में प्राचीनतम है। डॉ॰ अल्टेकर के अनुसार, वैदिक युग से लेकर अब तक भारतवासियों के लिये शिक्षा का अभिप्राय यह रहा है कि शिक्षा प्रकाश का स्रोत है तथा जीवन के विभिन्न कार्यों में यह हमारा मार्ग आलोकित करती है। प्राचीन काल में शिक्षा को अत्यधिक महत्व दिया गया था। भारत की प्राचीन शिक्षा आध्यात्मिमकता पर आधारित थी और सर्वोच्च लक्ष्य – “मोक्ष की प्राप्ति”

भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं प्रमुख घटनाएँ

स्वतंत्रता के बाद भारत में शिक्षा –

आजादी के बाद 1948-49 में विश्वविद्यालयों के सुधार के लिए भारतीय विश्वविद्यालय आयोग का गठन हुआ जिसकी सिफारिशों को बड़ी तत्परता के साथ कार्यान्वित किया गया। उच्च शिक्षा में पर्याप्त सफलता प्राप्त हुई। पंजाब, गौहाटी, पूना, रुड़की, कश्मीर, बड़ौदा, कर्णाटक, गुजरात, महिला विश्वविद्यालय, विश्वभारती, बिहार, श्रीवेकंटेश्वर, यादवपुर, वल्लभभाई, कुरुक्षेत्र, गोरखपुर, विक्रम, संस्कृत वि.वि. आदि अनेक नए विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई। स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात्‌ शिक्षा में लगातार प्रगति होने लगी। विश्वभारती, गुरुकुल, अरविंद आश्रम, जामिया मिल्लिया इसलामिया, विद्याभवन, महिला विश्वक्षेत्र में प्रशंसनीय वनस्थली विद्यापीठ आधुनिक भारतीय शिक्षा के संस्थान हैं।

राधाकृष्ण आयोग (1945-49), माध्यमिक शिक्षा आयोग (मुदालियर आयोग) 1953, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (1953), कोठारी शिक्षा आयोग (1964),

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (1968) नवीन शिक्षा नीति (1985) आदि के द्वारा भारतीय शिक्षा व्यवस्था को समय-समय पर सही दिशा देनें की गंभीर कोशिश की गयी।

1952-53 में माध्यमिक शिक्षा आयोग ने माध्यमिक शिक्षा की उन्नति के लिए अनेक सुझाव दिए। माध्यमिक शिक्षा के पुनर्गठन से शिक्षा में पर्याप्त सफलता प्राप्त हुई।

भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं प्रमुख घटनाएँ

  • 1780 : ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा ‘कोलकाता मदरसा’ स्थापित।
  • 1791 : ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा बनारस में ‘संस्कृत कालेज’ की स्थापना।
  • 1813 : एक आज्ञापत्र के द्वारा शिक्षा में धन व्यय करने का निश्चय किया गया।
  • 1835 : मैकाले का घोषणापत्र ।
  • 1854 : वुड का घोषणापत्र ।
  • 1857 : कलकत्ता, बंबई और मद्रास में विश्वविद्यालय स्थापित हुए ।
  • 1870 : बाल गंगाधर तिलक और उनके सहयोगियों द्वारा पूना में फर्ग्यूसन कालेज की स्थापना।
  • 1882 : हण्टर आयोग का गठन ।
  • 1886 : आर्यसमाज द्वारा लाहौर में दयानन्द ऐंग्लो वैदिक कालेज की स्थापना ।
  • 1893 : काशी नागरीप्रचारिणी सभा की स्थापना ।
  • 1898 : काशी में श्रीमती एनी बेसेंट द्वारा ‘सेंट्रल हिंदू कालेज’ स्थापित।
  • 1901 : लार्ड कर्ज़न ने शिमला में एक गुप्त शिक्षा सम्मेलन किया जिसमें 152 प्रस्ताव स्वीकृत हुए थे।
  • 1902 : भारतीय विश्वविद्यालय आयोग की नियुक्ति (लॉर्ड कर्जन द्वारा)
    • स्वामी श्रद्धानन्द द्वारा हरिद्वार के पास कांगड़ी में गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय की स्थापना ।
  • 1904 : भारतीय विश्वविद्यालय कानून बना ।
  • 1905 : स्वदेशी आंदोलन के समय कलकत्ते में जातीय शिक्षा परिषद की स्थापना हुई और नैशनल कालेज स्थापित हुआ जिसके प्रथम प्राचार्य श्री अरविंद घोष थे।
    • बंगाल टेकनिकल इन्स्टिट्यूट की स्थापना भी हुई।
  • 1911: गोपाल कृष्ण गोखले ने प्राथमिक शिक्षा को निःशुल्क और अनिवार्य करने का प्रयास किया।
  • 1916 : मदन मोहन मालवीय द्वारा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना।
  • 1937-38 : गांधीवादी विचारों पर आधारित बुनियादी शिक्षा योजना लागू ।
  • 1945 : सार्जेण्ट योजना लागू ।
  • 1948-49 : विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग का गठन।
  • 1951 : खड़गपुर में प्रथम आईआईटी की स्थापना।
  • 1952-53 : माध्यमिक शिक्षा आयोग का गठन।
  • 1956 : विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की स्थापना।
  • 1958 : दूसरा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुम्बई में स्थापित
  • 1959 : कानपुर एवं चेन्नई में क्रमश: तीसरा एवं चौथा आईआईटी स्थापित ।
  • 1961 : एनसीईआरटी की स्थापना
    • प्रथम दो भारतीय प्रबन्धन संस्थान अहमदाबाद एवं कोलकाता में स्थापित किए गए।
  • 1963 : पाँचवां आईआईटी दिल्ली में स्थापित किया गया। तीसरा I.I.M. बंगलौर में स्थापित
  • 1964-66 : कोठारी शिक्षा आयोग की स्थापना, रिपोर्ट प्रस्तुत की।
  • 1975 : छ: वर्ष तक के बच्चों के उचित विकास के लिए समेकित बाल विकास सेवा योजना प्रारम्भ ।
  • 1976 : शिक्षा को ‘राज्य’ विषय से “समवर्ती” विषय में परिवर्तन।
  • 1968 : कोठारी शिक्षा आयोग की सिफारिशों के प्रथम राष्ट्रीय शिक्षा नीति अपनाई गई। अनुसरण में करने हेतु संविधान संशोधन |
  • 1984 : लखनऊ में चौथा IIM स्थापित ।
  • 1985 : संसद के अधिनियम द्वारा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय की स्थापना
  • 1986 : नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को अपनाया |
  • 1987-88 : संसद के अधिनियम द्वारा सांविधिक निकाय के रूप में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) स्थापित ।
    • राष्ट्रीय साक्षरता मिशन प्रारम्भ ।
  • 1992 : आचार्य राममूर्ति समिति द्वारा समीक्षा के आधार पर राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 1986 में संशोधन ।
  • 1993 : संसद के अधिनियम द्वारा सांविधिक निकाय के रूप है।
    • राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद स्थापित ।
  • 1994 : उच्चतर शिक्षा की संस्थाओं का मूल्यांकन एवं प्रत्यायन करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद की स्थापना। (बंगलौर में मुख्यालय)।
    • गुवाहाटी में छठे IIT की स्थापना ।
  • 1995 : प्राथमिक स्कूलों में केन्द्रीय सहायता प्राप्त मध्याह भोजन योजना आरम्भ की गई।
  • 1996 : पाँचवाँ IIM कोझीकोड में स्थापित।
  • 1998 : छठा IIM इंदौर में स्थापित।
  • 2001 : जनगणना में साक्षरता दर 65.4% (समग्र), 53.7% (महिला) पूरे देश में गुणवत्तापरक प्रारंभिक शिक्षा के सर्व सुलभीकरण हेतु सर्व शिक्षा अभियान प्रारंभ ।
  • 2002 : मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा को मौलिक अधिकार बनाने के लिए संविधान संशोधन।
  • 2003 : 17 क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कालेज, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में परिवर्तित।
  • 2004 : शिक्षक को समर्पित उपग्रह “एडूसैट” (EduSat) छोड़ा गया।
  • 2005 : संसद अधिनियम द्वारा राष्ट्रीय अल्पसंख्यक शैक्षणिक संस्था आयोग गठित ।
    • एनसीईआरटी द्वारा तैयार राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 स्वीकृत |
  • 2006 : कोलकाता और पुणे में दो भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान स्थापित ।
  • 2007 : सातवां IIM शिलांग में स्थापित किया गया। मोहाली में एक भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान स्थापित किया गया।
    • राष्ट्रीय संस्कृत परिषद गठित । केन्द्रीय शैक्षिक संस्था (प्रवेश में आरक्षण) अधिनियम अधिसूचित।
  • 2009 : भारतीय संसद द्वारा निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम पारित ।
  • 20 मार्च 2018 : 62 विश्वविद्यालयों और 8 महाविद्यालयों (जिनमें जेएनयू, बीएचयू और एचसीयू सहित पाँच केन्द्रीय विश्वविद्यालय शामिल हैं) को स्वायत्तता देने की घोषणा 
  • 29 जुलाई 2020 : नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति – 2020 लागू ।

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Please follow and like us:
Twitter
Visit Us
Follow Me
भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं प्रमुख घटनाएँ
भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं प्रमुख घटनाएँ

You cannot copy content of this page

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial