FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु क्या है स्कूल शिक्षा विभाग की कार्ययोजना ?

FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु क्या है स्कूल शिक्षा विभाग की कार्ययोजना ?

FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु क्या है स्कूल शिक्षा विभाग की कार्ययोजना ?

FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा समीक्षा किए जाने वाले नियमित सूचकांकों में से एक है – FLN के क्रियान्वयन हेतु मेंटर – मेंटी तय कर FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मिलकर कार्य करना और इसके लिए सभी हितग्राहियों का क्षमता विकास | इस कार्य को संपादित किए जाने हेतु निम्नलिखित समय सारिणी व दिशा निर्देश जारी किये गये हैं –

  1. राज्य स्तर पर एक कुशल टीम का गठन कर कार्यक्रम डिजाइन करना (31 अक्टूबर तक) ।
  2. संभाग मुख्यालयों में प्रत्येक विकासखंड से दो दो कुशल मेंटर (भाषा एवं गणित) का चार दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम (नवंबर प्रथम सप्ताह तक) ।
  3. जिला मुख्यालयों में प्रत्येक संकुल से दो दो कुशल मेंटर (भाषा एवं गणित) का चार दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम (नवंबर द्वितीय सप्ताह तक) ।
  4. संकुल स्तर पर शिक्षकों का चार दिवसीय उन्मुखीकरण (नवंबर अंतिम सप्ताह तक) ।
  5. विभिन्न स्तरों पर अधिकारियों विशेषकर शाला संकुल प्राचार्यों का एक दिवसीय उन्मुखीकरण (नवंबर अंतिम सप्ताह तक) ।

शिक्षा विभाग की कार्ययोजना –

  1. संभाग के मुख्यालय वाले जिले में संभाग के सभी विकासखंडों से दो – दो कुशल स्रोत व्यक्तियों के आवास एवं प्रशिक्षण की बेहतर व्यवस्था करनी होगी ।
  2. सभी विकासखंडों को अपने सभी संकुल से दो – दो स्रोत व्यक्तियों के चार दिवसीय प्रशिक्षण की व्यवस्था करनी होगी ।
  3. संकुल स्तर पर कम से कम दो से तीन संकुलों को मिलाकर बच्चों के सीखने को कम से कम प्रभावित कर शिक्षकों का चार दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित करना होगा ।
  4. ये प्रशिक्षण एक साथ आयोजित न करते हुए शनिवार एवं कुछ दिनों की आड़ में कर सकते हैं ।
  5. प्रत्येक प्रशिक्षण केंद्र में वहां के ऐसे स्थानीय शिक्षकों का चयन करें जो
    • (i) खिलौनों का उपयोग कर सिखाने में सहयोग दे सके ।
    • (ii) FLN पर आधारित TLM बनाकर उनके उपयोग में दक्ष हो ।
    • (iii) स्थानीय भाषा में बिग बुक बनाने में दक्ष हो ।
    • (iv) गणित एवं अंग्रेजी में बेहतर क्वालिटी के TLM बनाकर प्रशिक्षण दे सके ।

प्रशिक्षण में शामिल होने वाले शिक्षकों को शामिल होने से पूर्व निम्नलिखित असाइनमेंट को पूरा करके लाना होगा –

  • निपुण भारत के लक्ष्यों का अध्ययन कर उनकी प्राप्ति के लिए विभिन्न गतिविधियों के बारे में समझ विकसित कर आना ।
  • आपकी शाला में बच्चों द्वारा बोले जाने वाली भाषा और आपके द्वारा कक्षा में बच्चों का सीखना आसान करने हेतु किए जा रहे विभिन्न उपायों की जानकारी ।
  • आपकी शाला में बच्चों के पढने के कौशल के विकास के संबंध में वस्तुस्थिति एवं उनमें सुधार हेतु लाए जा रहे विभिन्न प्रयास ।
  • बच्चों को रचनात्मक लेखन के अवसर देते हुए उनके द्वारा लिखे गए कुछ नमूने ।
  • कक्षाओं में गणित सिखाने हेतु उपयोग में लाए जा रहे कुछ नवाचारी उपाय  ।
  • बच्चों द्वारा गणित में विभिन्न सवालों को हल करने के नमूने एवं बच्चों द्वारा की जा रही विभिन्न गलतियों से सीख लेते हुए उन्हें सुधारे जाने हेतु सीखने-सिखाने की गतिविधियों में अपेक्षित बदलाव हेतु कुछ सुझाव ।
  • बच्चों की स्थानीय भाषा में कक्षा में वार्तालाप हेतु वार्तालाप पुस्तिका तैयार कर उसकी नमूना प्रति साथ में लाना (संकुल / विकासखंड स्तर पर मिलकर बनाएं) ।
  • बच्चों की भाषा से संबंधित विभिन्न शब्दों को एकत्र कर डिक्शनरी बनाकर लाएं ।
  • बच्चों को उनके परिवेश की वस्तुओं को अंग्रेजी में बोल पाने हेतु शब्दों को एकत्र कर उनके उपयोग हेतु प्रेरित करें, सीखकर बोलने का अवसर देवें ।
  • बच्चों की भाषा में आसान, प्रचलित गीत-कविताओं का संकलन कर उन्हें हाव-भाव के साथ गाने का अभ्यास कर कम से कम दस स्थानीय/ हिन्दी गीतों का अच्छे से अभ्यास करके प्रशिक्षण में उपस्थित होंगे ।

संभाग एवं विकासखंड स्तर पर जाने वाले शिक्षक साथी इसकी पूरी तैयारी कर लेंगे । संकुल स्तर पर आयोजित होने वाले चार दिवसीय प्रशिक्षण के पूर्व सभी संकुलों के शिक्षकों के पास उपरोक्त बिन्दुओं पर आवश्यक सामग्री के साथ प्रस्तुतीकरण हेतु पूरी तैयारी की जिम्मेदारी संकुल एवं विकासखंड स्रोत समन्वयकों की होगी । जिला FLN टास्क फ़ोर्स इन सबको सुनिश्चित करेंगे । प्रत्येक शिक्षक को उपरोक्त बिन्दुंओं पर पूरी तैयारी होनी चाहिए ।

इस प्रशिक्षण के दौरान शिक्षकों के साथ निम्नलिखित मुद्दों पर कार्य किया जाएगा-

  • शिक्षक छोटे-छोटे समूह में बैठकर निपुण भारत के विभिन्न दक्षताओं को लेकर उन पर आधारित पाठ योजना एवं गतिविधियों का चयन कर उनका प्रदर्शन करेंगे ।
  • शिक्षक दो-दो के समूह बनाकर एक दूसरे के पठन स्पीड एवं समझ की जांच कर पूरी प्रक्रिया को समझेंगे एवं अपने पठन स्पीड को बढाने की दिशा में काम करेंगे ।
  • समान भाषा समूह के बच्चों के साथ काम कर रहे शिक्षक अपने बच्चों की भाषा में कक्षा में उपयोग हेतु वार्तालाप पुस्तिका एवं शब्दकोष बनाने का कार्य करेंगे ।
  • स्पोकन इंग्लिश के लिए आपस में मिलकर वर्कशीट्स  के आधार पर अभ्यास करवाएंगे ।
  • प्रत्येक शिक्षक को कम से कम दस गीतों-कविताओं एवं कहानियों को पूरे हाव-भाव के साथ गाने / सुनाने का अच्छे से अभ्यास कर निपुण होकर प्रशिक्षण के बाद उनका कक्षा में उपयोग कर सकेंगे ।
  • गणित में अभ्यास हेतु विभिन्न गतिविधियाँ एवं सहायक सामग्री आदि से परिचय प्राप्त कर सकेंगे ।
  • FLN पर आधारित प्री एवं पोस्ट टेस्ट लिए जाएँगे ताकि प्रशिक्षण से हुए बदलाव का आकलन हो सके ।

इस प्रशिक्षण के सफल आयोजन हेतु प्रशिक्षण केंद्र में निम्नलिखित संसाधन उपलब्ध होने चाहिए-

  • पूरे प्रशिक्षण की मानिटरिंग एवं सफल संचालन हेतु जिले एवं विकासखंड स्तर पर एक पूरी टीम तैयार रहेगी जिसमें जिला एवं विकासखंड स्तरीय अधिकारी, कार्यक्रम के लिए चयनित नोडल अधिकारी, जिला टास्क फ़ोर्स, कुशल मेंटर्स, इच्छुक सेवानिवृत्त शिक्षकों को शामिल किया जाएगा ।
  • संभाग एवं विकासखंड स्तरीय प्रशिक्षण केन्द्रों में पर्याप्त सुविधाजनक बैठक व्यवस्था,  छोटे-छोटे समूह में कार्य करने हेतु स्थान, पीपीटी दिखाने अच्छी क्वालिटी के प्रोजेक्टर की उपलब्धता एवं साउंड सिस्टम के साथ साथ चार्ट-पोस्टर-मार्कर आदि की व्यवस्था  ।
  • FLN से संबंधित सभी साहित्य एवं मोड्यूल जो राज्य कार्यालय से विगत सत्र में तैयार कर शालाओं में वितरण के लिए मुद्रित कर भेजा जा रहा है, की प्रतियाँ प्रशिक्षण केंद्र में निर्धारित संख्या में उपलब्ध हो ।
  • स्थानीय स्तर पर ऐसे शिक्षक जो खिलौने बनाकर उसके माध्यम से सिखाने, FLN आधारित TLM बनाकर उपयोग करने में, स्थानीय भाषा में विशेषज्ञ शिक्षकों की सेवाएं उपलब्ध होनी चाहिए ।

चार दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम :- प्रस्तावित समय सारिणी

क्र.विषयवस्तु/ गतिविधिसमय
प्रथम दिवस
1पंजीयन एवं पठन सामग्री का वितरण10.00 -10.30 AM
2छोटे समूह में प्रदत्त कार्यों (assignment) पर चर्चा एवं प्रस्तुतीकरण10.30 -11.30 AM
3निपुण भारत कार्यक्रम से परिचय एवं लक्ष्य11.30 – 12.30 AM
 चाय के लिए ब्रेक12.30 – 12.45 PM
4बच्चों में मूलभूत कौशल विकसित नहीं हो पाने के प्रमुख कारण एवं उपाय12.45 – 01.30 PM
 लंच ब्रेक01.30 – 02.30 PM
5स्थानीय भाषा समूह में ५ गीत/कविताओं का हाव-भाव के साथ अभ्यास02.30 – 03.30 PM
6स्थानीय भाषा में वार्तालाप पुस्तिका बनाने हेतु ब्लू-प्रिंट03.30 – 04.00 PM
 चाय के लिए ब्रेक04.00 – 04.15 PM
7स्थानीय भाषा में शब्दकोष बनाने हेतु ब्लू-प्रिंट04.15 – 05.00 PM
8FLN पर आधारित विभिन्न सहायक सामग्रियों से परिचय हेतु प्रदर्शनी05.00 – 06.00 PM
 प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी के मध्य आपस में चर्चा (डिनर के पूर्व) 
द्वितीय दिवस
1मूलभूत साक्षरता एवं कक्षावार निर्धारित लक्ष्य का विवरण एवं समझ10.00 – 11.00 AM
2मूलभूत साक्षरता के अंतर्गत सुनना एवं पढने से संबंधित गतिविधियाँ11.00 – 12.00 PM
3मूलभूत साक्षरता के अंतर्गत लिखना एवं बोलने से संबंधित गतिविधियाँ12.00 – 12.45 PM
 चाय के लिए ब्रेक12.45 – 01.00 PM
4बच्चों में पठन कौशल विकास से संबंधित शिक्षण प्रविधियां / पाठ योजना01.00 – 02.00 PM
 लंच ब्रेक02.00 – 03.00 PM
5स्थानीय भाषा समूह में ५ गीत/कविताओं का हाव-भाव के साथ अभ्यास03.00 – 03.30 PM
6शाला पुस्तकालय का महत्व एवं उनका बेहतर उपयोग03.30 – 04.00 PM
 चाय के लिए ब्रेक04.00 – 04.15 PM
7वार्तालाप पुस्तिका एवं शब्दकोश को अंतिम रूप देना  04.15 – 05.30 PM
 प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी के मध्य आपस में चर्चा (डिनर के पूर्व) 05.30 – 06.00 PM
 तृतीय दिवस 
1मूलभूत गणितीय कौशल  एवं कक्षावार निर्धारित लक्ष्य का विवरण10.00 -11.00 AM
2मूलभूत गणितीय कौशल  के अंतर्गत गिनती एवं अन्य अवधारणाएं11.00 – 11.30 AM
3मूलभूत गणितीय कौशल  के अंतर्गत जोड़ एवं घटाव की समझ11.30 – 12.00 AM
4मूलभूत गणितीय कौशल  के अंतर्गत गुणा एवं भाग की समझ12.00 – 12.30 PM
 चाय के लिए ब्रेक12.30 -12.45 PM
5गणितीय कौशल विकास से संबंधित शिक्षण प्रविधियां / पाठ योजना12.45 – 01.30 PM
 लंच ब्रेक01.30 – 02.30 PM
6समझ के साथ सीखने हेतु गणित किट, संपर्क टीवी एवं अन्य सामग्री02.30 – 03.30 PM
7बच्चों को अंग्रेजी सीखने में सहयोग हेतु रणनीतियाँ03.30 – 04.30 PM
8गणित एवं अंग्रेजी सीखने में सहयोग हेतु अभ्यास पुस्तिकाएँ/ सामग्री04.30 – 05.00 PM
9गणित एवं अंग्रेजी सीखने में सहयोग हेतु आकलन एवं उपचार05.00 – 06.00 PM
 प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी के मध्य आपस में चर्चा (डिनर के पूर्व) 
 चतुर्थ दिवस 
1खिलौनों से सीखना एवं खेल-खेल में सीखना- प्रदर्शन एवं चर्चा09.00 – 10.00 AM
2FLN के क्रियान्वयन हेतु मेंटर-मेंटी के माध्यम से सहयोग/ संकुल बैठक  10.00 – 11.00 AM
3FLN के लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु सामुदायिक सहभागिता11.00 – 12.00 PM
 चाय के लिए ब्रेक12.30 – 12.45 PM
4शाला तैयारी एवं बालवाडी से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा12.45 – 01.30 PM
 लंच ब्रेक01.30 – 02.30 PM
5स्टोरीव्हीवर की कहानियों की पुस्तक का उपयोग एवं साईट से परिचय02.30 – 03.30 PM
6FLN की प्राप्ति हेतु नवाचारी शिक्षण योजनाएं/ विद्या अमृत महोत्सव03.30 – 04.00 PM
 चाय के लिए ब्रेक04.00 – 04.15 PM
7क्षमता विकास से संबंधित आगे की रणनीति पर चर्चा एवं योजना04.15 – 05.00 PM

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Please follow and like us:
Twitter
Visit Us
Follow Me
FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु क्या है स्कूल शिक्षा विभाग की कार्ययोजना ?
FLN लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में मूलभूत दक्षताओं में हितग्राहियों के विकास हेतु क्या है स्कूल शिक्षा विभाग की कार्ययोजना ?

You cannot copy content of this page

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial