Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA) राष्ट्रीय अविष्कार अभियान मद 2023-24

1,361

Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA) : समग्र शिक्षा द्वारा सत्र 2023-24 की वार्षिक कार्य योजना एवं बजट के अतंर्गत राज्य के 4692 हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों हेतु राष्ट्रीय अविष्कार अभियान मद में राशि रू. 5000.00 प्रति स्कूल की दर से राशि जारी कर व्यय के लिये प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान गयी है।

इस योजना का उद्देश्य युवा मन में जिज्ञासा, रचनात्मकता और कल्पना को बढ़ावा देना है |

Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA) मद

Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA)
Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA)

Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA) मद प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति व निर्देश (Secondary)-

वित्तीय स्वीकृति 2023-24Open
वित्तीय स्वीकृति 2022-23Open

RAA राशि विवरण-

वित्तीय वर्ष 2023-24₹ 5000हाई/हायर सेकेण्डरी
₹ 5000
प्रति संकुल
वित्तीय वर्ष 2022-23₹ 5000हाई/हायर सेकेण्डरी

RAA मद की राशि उपयोग निर्देश (CRC)

समग्र शिक्षा की वार्षिक कार्य योजना एवं बजट 2023-24 में Rashtriya Avishkar Abhiyan (RAA) (Elementary) मद के अंतर्गत Formation of Science / Maths Clubs में कुल 5540 संकुलों के लिए प्रतिसंकुल राशि रु.5000/- के मान से कुल राशि रु. 277.00 लाख की स्वीकृति प्राप्त हुई है | सभी संकुलों के लिए जिलों को प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है-

RAA मद प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति व आदेश(CRC)-

Related Posts

Download

RAA मद वित्तीय स्वीकृतिOpen

RAA(राष्ट्रीय अविष्कार अभियान) मद Scheme Component-

  • [L] Rastriya Avishkar Abhiyan (RAA).

RAA(राष्ट्रीय अविष्कार अभियान) का उद्देश्य-

  • यह समग्र रूप से शैक्षिक प्रणाली में योगदान प्रदान करता है।
  • विज्ञान एक्सपोजर विजिट करवाई जा सकता है।
  • गणित, विज्ञान और प्रौद्योगिकी शिक्षक तैयारी करना।
  • स्कूलों में गणित और विज्ञान प्रयोगशालाओं को मजबूत बनाना।
  • विभिन्न शिक्षण-अधिगम उपकरणों का प्रावधान और स्कूली गणित और विज्ञान के लेनदेन में सुधार।
  • गणित और विज्ञान शिक्षण में प्रौद्योगिकी का समावेश।
  • प्रौद्योगिकी के उपयोग सहित शिक्षक सहायता संगठनों की प्रभावशीलता में वृद्धि करना।
  • गैर-पारंपरिक तरीकों का उपयोग करके गणित और विज्ञान को बढ़ावा देने का प्रयास।
  • विज्ञान और गणित के लिए उच्च शिक्षा संस्थानों में स्कूल परामर्श और शिक्षकों का प्रावधान।
  • गणित, विज्ञान और प्रौद्योगिकी शिक्षक मंडलों और बच्चों के गणित और विज्ञान क्लबों की व्यवस्था।
  • विज्ञान सीखने को प्रोत्साहित करना और विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कार्यक्रमों के दायरे का विस्तार करना।
  • राज्य, राष्ट्रीय और अंतर-विद्यालय गणित और विज्ञान प्रतियोगिताएं, ओलंपियाड आदि कराना।
  • विज्ञान मेलों, संग्रहालयों और गणितीय मेलों की योजनाबद्ध यात्राएं कराना।
  • समुदाय और माता-पिता का संवेदीकरण कराना।
  • अटल इनोवेशन मिशन के तहत नीति आयोग पूरे भारत के स्कूलों में अटल टिंकरिंग लैबोरेटरीज (एटीएल) की स्थापना कर रहा है।
  • इस योजना का उद्देश्य युवा मन में जिज्ञासा, रचनात्मकता और कल्पना को बढ़ावा देना है; और डिजाइन माइंडसेट, कम्प्यूटेशनल थिंकिंग, एडाप्टिव लर्निंग, फिजिकल कंप्यूटिंग आदि जैसे कौशल विकसित करना।

RAA(राष्ट्रीय अविष्कार अभियान) मद का उपयोग-

  • राष्ट्रीय आविष्कार अभियान का उद्देश्य विद्यालयों कक्षा कक्षों में संप्रेषण विद्या के साथ कक्षा कक्ष के सीमित वातावरण से परे विज्ञान, गणित तकनीकी उपलब्धताओं जैसे प्रोद्योगिक अवलोकन द्वारा सीखने के अवसरों को उपलब्ध कराना है। जिससे विद्यार्थियों का वैज्ञानिक अन्वेषण हो सके।
  • इसका उद्देश्य विद्यार्थियों में वैज्ञानिक सोच, अन्वेषण प्रवृत्ति आदि के विकास को प्रोत्साहित करना है।
  • इसके तहत राशि दी जाकर संबंधित संस्था प्रधानों को अभियान के तहत वैज्ञानिक सोच अन्वेषण प्रवृत्ति को विकसित करने कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए हैं।
  • विद्यालयमें विज्ञान किट एवं गणित किट, संदर्भ पुस्तकें, विज्ञान-गणित मॉडल, विज्ञान पत्रिकाएं, विज्ञान-गणित मेलों क्विज तैयारी के लिए मॉडल चार्ट आदि तैयार करवाने के लिए आवश्यक सामग्री उपलब्ध करवाया जा सकता है।
  • वैज्ञानिकों, डॉक्टर, विशेषज्ञों को आमंत्रित कर स्कूल में वार्ताएं, व्याख्यान आदि कार्यक्रम होंगे। विज्ञान-गणित क्लब का गठन किया जा सकता है।
  • विद्यार्थियों को विद्यालय, ब्लॉक, जिला, राज्य राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान गणित प्रतियोगिता में भाग दिलवाया जा सकता है।
  • समुदाय का संवेदीकरण भागीदारी तय की जा सकता है।

गणित एवं विज्ञान क्लब का गठन-

  • प्रारंभिक स्तर पर प्रत्येक शाला संकुल में एक उच्च प्राथमिक अर्थात कुल 5540 उच्च प्राथमिक शालाओं में गणित-विज्ञान क्लब एवं प्रत्येक हाई- हायर सेकन्डरी स्कूल में गणित-विज्ञान क्लब के गठन हेतु आवश्यक कार्यवाही की जानी होगी.
  • इस हेतु निम्नलिखित कार्यवाही की जानी होगी
  • प्रत्येक शाला संकुल से एक सक्रिय उच्च प्राथमिक शाला का चयन करें जहां गणित-विज्ञान क्लब का गठन कर विभिन्न कार्यों जो संपादित किया जा सकेगा
  • सभी हाई/ हायर सेकन्डरी स्कूलों में गणित-विज्ञान क्लब खोले जाने हेतु आवश्यक व्यवस्था करें
  • गणित-विज्ञान क्लब के संचालन हेतु विस्तृत दिशानिर्देश तैयार कर आनलाइन साझा किया जाएगा
  • इस प्रकार चयनित शालाओं में से प्रत्येक को पांच हजार रूपए आबंटित करते हुए उसके व्यय के लिए दिशानिर्देश एवं चयनित शालाओं के नोडल शिक्षकों के साथ वेबीनार का आयोजन कर पूरी समझ बनाएं

उपयोगिता प्रमाण पत्र डाउनलोड करें [ Download Now]

Get real time updates directly on you device, subscribe now.