SCHOOL CALANDER | MDM CALCULATOR | SALARY CHART

बालवाड़ी शिक्षक मानदेय राशि-2023 जारी

106

बालवाड़ी शिक्षक मानदेय : हर बालवाड़ी में आंगनबाड़ी सहायिका के साथ प्राथमिक शाला के एक सहायक शिक्षक को बच्चों के अध्यापन के लिये नियुक्त किया गया है । सहायक शिक्षक को हर माह 500 रुपए की दर से 5000 का मानदेय मिलेगा । नई शिक्षा नीति के तहत 05 से 06 वर्ष आयु के बच्चों के लिये यह योजना शुरू की गई हैं | बच्चे बालवाड़ी के माध्यम से सीखने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

बालवाड़ी शिक्षक मानदेय राशि-2023 जारी

बालवाड़ी में खेल-खेल में एवं रोचक तरीके से अध्यापन के लिए आंगनबाड़ी सहायिका एवं शिक्षकों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है| प्रत्येक बालवाड़ी के लिए बच्चों के अनुकूल फर्नीचर, बच्चों के अनुकूल खेल सामग्री एवं प्रिंटरीच रंग-रोगन के लिए राशि स्वीकृति की गई है | इस वर्ष 5173 बालवाड़ियां प्रारभ की गई हैं, आने वाले वर्षों में राज्य के सभी क्षेत्रों में चरणबद्ध रूप से बालवाड़ियां खोली जाएंगी|

बालवाड़ी शिक्षक मानदेय राशि वित्तीय स्वीकृति आदेश-

बालवाड़ी शिक्षकों को प्रबंधकीय मद से प्रतिमाह 500 रूपये, 10 माह तक 5000 दिये जाने हेतु वार्षिक व्यय भार राशि रूपये 2,58,65,000.00/- संभावित है, की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदाय की गयी है ।

बालवाड़ी शिक्षक मानदेय राशि जारी
बालवाड़ी शिक्षक मानदेय राशि जारी

बालवाड़ी हेतु शिक्षक का चयन-

  • बच्चों को प्रतिदिन दो घंटे हमें अपनी प्राथमिक शाला में रखते हुए सीखने-सिखाने का माहौल देना है |
  • बच्चों के साथ Quality समय देने हेतु प्राथमिक शाला से एक शिक्षक का चयन करना होगा |
  • प्राथमिक शाला में महिला शिक्षिका हो तो उन्हें इस कार्य के लिए चयन करने हेतु प्राथमिकता देना है |
  • बालवाड़ी की जिम्मेदारी लेने वाले शिक्षक/ शिक्षिका को कक्षा पहली एवं दूसरी की जिम्मेदारी भी देवें ताकि एक क्रम से सीखना सुनिश्चित किया जा सके|
  • चयनित शिक्षक/ शिक्षिका को प्राथमिक शालाओं में सिखाने के तरीकों को कुछ हद तक भूलकर उससे अलग हटकर छोटे बच्चों को सिखाने के तरीकों को सीखना होगा|
  • नवनियुक्त शिक्षकों को प्राथमिकता देवें ताकि उन्हें बहुत अधिक पुरानी चीजों को भूलना न पड़े छोटे बच्चों को सीखने के तरीकों पर चयनित शिक्षक को प्रशिक्षण लेना आवश्यक होगा|
  • सबकी सहमति से चयनित कक्ष को सत्रारंभ के पहले इस चयनित शिक्षक/ शिक्षिका को छोटे बच्चों को सीखने में सहयोग हेतु तैयार करना होगा|

बालवाड़ी में बच्चों के साथ गतिविधियों-

  • बालवाटिका के लिए निर्धारित लर्निंग आउटकम को ध्यान से पढकर समझ लेवें|
  • बालवाटिका के लिए निर्धारित लर्निंग आउटकम की संप्राप्ति हेतु विभिन्न गतिविधियों को डिजाइन कर लेवें|
  • विद्या प्रवेश अथवा स्कूल रेडीनेस के लिए तैयार पठन सामग्री में से नब्बे दिनों के लिए आप गतिविधियों का चयन कर कक्षा में उपयोग कर सकते हैं|
  • आउटडोर गतिविधियों के लिए रेत के पिट, झूले एवं अन्य स्थानीय उपलब्धता एवं आवश्यकता अनुसार अन्य संसाधन लगाए जा सकते हैं ।

बालवाड़ी में बच्चों का आकलन-

  • बालवाटिका के लिए निर्धारित लर्निंग आउटकम को ध्यान में रखकर आकलन के लिए योजना बनानी होगी|
  • आकलन इस प्रकार से किया जाना होगा कि बच्चों को इस बाबत पता ही नहीं चले और प्रतिदिन चलने वाली गतिविधियों में सक्रियता के आधार पर उन्हें अंक अथवा ग्रेड दिए जाने की व्यवस्था की जाए ।
  • आकलन की मूल भावना इस प्रकार हो कि वह रिपोर्ट कार्ड न होकर सपोर्ट कार्ड के रूप में उपयोग में लाया जाए ।
  • कोशिश यह करें कि सभी बच्चे नियमित बालवाड़ी आएं और सभी निर्धारित लर्निंग आउटकम समय पर हासिल करते जाएं ।

बालवाड़ी बनाम स्कूल-

बालवाड़ी में स्कूलीकरण के प्रभाव को न्यून कर बच्चों को स्कूल से बिलकुल अलग हटकर नए तरीके से सीखने के अवसर देने हेतु आप बालवाड़ी में मुख्य रूप से किस प्रकार की गतिविधियों का आयोजन कर सकते हैं-

  • इनडोर एवं आउटडोर खेलों का आयोजन,
  • चित्रों पर चर्चा, चित्र पठन,
  • कहानी सुनाना, हाव-भाव के साथ गीत – कविता सुनना एवं सुनाना,
  • अपने परिवेश एवं अनुभव से जुड़े मुद्दों पर स्वतंत्र अथवा मुक्त-निर्देश बातचीत करने हेतु प्रोत्साहित करना,
  • रोल प्ले, विभिन्न सामग्री को लेकर मिलान एवं तुलना करने के अवसर देना,
  • नृत्य-संगीत एवं नाटक में शामिल होना,
  • आसपास के स्थलों का भ्रमण, मुक्त खेलों और संरचित खेलों का आयोजन करना,
  • खिलौनों के माध्यम से सीखना |.

हमें अपने बालवाड़ियों को हैप्पी स्कूल के रूप में संचालित करना है !!

edudepart.com

Get real time updates directly on you device, subscribe now.