SCHOOL CALANDER | MDM CALCULATOR | SALARY CHART

विद्यार्थी विकास सूचकांक FLN

544

विद्यार्थी विकास सूचकांक FLN

  1. छत्तीसगढ़ के सभी प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक शालाओं को अब अपना परफॉर्मेंस दीवार पर टांगकर दिखाना होगा।
  2. शिक्षक एक महीने तक किस बात पर फोकस करेंगे एवं बच्चों में कौन सी दक्षता हासिल कर पाएंगे इसे वे एक चार्ट बनाकर स्कूल में प्रदर्शित करना पड़ेगा ।
  3. उनकी क्लास के कितने बच्चे चार्ट के मुताबिक सीखे, इसे उसी चार्ट में बच्चों के नाम के साथ दर्ज करेंगे।
  4. जब शिक्षा विभाग के अधिकारी निरीक्षण के लिए स्कूल आएंगे तो इस चार्ट को देखेंगे और जिन बच्चों के नाम के आगे टिक लगा होगा, उसके दक्षता की जांच कर पाएंगे।
  5. इससे पता चल पाएगा कि शिक्षक ने क्या और कितना पढ़ाया है।
  6. स्कूल शिक्षा विभाग ने इसे विद्यार्थी विकास सूचकांक का नाम दिया गया है।
  7. इसका आदेश सभी जिलों के डीईओ को भेज दिया गया है। यह पहली से आठवीं तक के बच्चों व शिक्षकों के लिए होगा।
  8. शिक्षक को हर महीने कम से कम पांच अधिगम यथा कविता, गिनती, पहाड़ा, गणित, अंग्रेजी, विज्ञान आदि विषयों को तय करना होगा।
  9. इन कक्षाओं में जब शाला विकास समिति, पंचायत या शिक्षा विभाग के अफसर दौरा करेंगे, वे बच्चों से इसी इंडेक्स को देखकर सवाल करेंगे। उन्हें पता होगा कि क्लास में किन बच्चों को सब कुछ आता है।
  10. बाकी बच्चों को उनके अधिगम स्तर के आधार पर सवाल-जवाब करेंगे।

आकलन हेतु टिप्स

बालवाडी / आंगनबाडी :- इस स्तर पर श्यामपर् में दो अक्षर से बने 10-15 सरल शब्दों को लिखकर कम से कम पांच शब्दों को पढाईए। सही उच्चारण के साथ पढ़ पाने की स्थिति में टिक √ लगाएं । गणित में बच्चों को दस कंकड़ / बीज आदि देकर उसे गिनने, एक से दस तक गिनती बोलने का काम देकर अच्छे से बोल पाने की स्थिति में टिक √ लगाएं ।

कक्षा पहली :- अपके स्कूल के मुस्कान पुस्तकालय में छोटे बच्चों के लिए चित्र कहानियाँ युक्त पुस्तकें उपलब्ध कराइ गयी है। इन पुस्तकों को बच्चों में बांटकर ईसमें से 4-5 सरल शब्दों सहित छोटे-छोटे वाक्य पढ़ पाते हैं तो ईन बच्चों के नाम के आगे टिक √ लगाएं । इसी प्रकार गणित में श्यामपट  पर 99 तक की कुछ संख्याएं लिखकर ईन्हें पढने एवं कुछ संख्याओं को सुनकर ईन्हें अपनी अपनी कापी में लिखने का अवसर दें। यदि कम से कम पांच संख्याएं सही तरीके से पढ़ और लिख पा रहे हैं तो ईन नामों के आगे टिक √ लगाएं ।

कक्षा दूसरी:- आस स्तर पर परीक्षण करने हेतु अप ईच्च प्राथवमक शालाओं या अपके यहाँ मुस्कान पुस्तकालय में भेजी गयी CIIL की पुस्तकों का ईपयोग करें आन पुस्तकों की कहावनयों में सरल शब्दों के 8-10 िाक्यों को लगभग 45-60 शब्द प्रवत वमनर् की गवत से सही ईच्चारण के साथ पढ़ पा रहे हैं तो ईन बच्चों के नाम के सम्मुख वर्क करें । गवणत में श्यामपर् पर 999 तक की संख्याओं में से कुछ संख्याएँ वलखकर ईन्हें पहचानने, ठीक से पढ़ पाने, वगनती सुनाने, कुछ संख्या बोलकर ईन्हें ऄपनी कापी में वलखने के साथ- साथ 99 तक की संख्याओं को जोड़ने संबंधी कुछ सिाल देते हुए सही हल कर पा रहे बच्चों की पहचान कर ईनके नाम के सम्मुख वर्क करें ।

कक्षा दूसरी :- इस स्तर पर परीक्षण करने हेतु आप उच्च प्राथमिक शालाओं या आपके यहां मुस्कान पुस्तकालय में भेजी गई CIIL की पुस्तकों का उपयोग करें I इन पुस्तकों की कहानियों में सरल शब्दों में 8 से 10 वाक्य को लगभग 45 से 60 शब्द प्रति मिनट की गति से सही उच्चारण के साथ पढ़ पा रहे हैं I तो इन बच्चों के नाम के सम्मुख टिक √ लगाएं । गणित में श्यामपट्ट पर 999 तक की संख्याओं में से कुछ संख्याएं लिखकर उन्हें पहचान, ठीक से पढ़ अपने गिनती सुनने कुछ संख्या बोलकर उन्हें अपनी कॉपी में लिखने के साथ साथ-साथ 99 तक की संख्याओं को जोड़ने संबंधी कुछ सवाल देते हुए सही हल कर पा रहे बच्चों की पहचान कर उनके नाम के सम्मुख टिक √ लगाएं ।

कक्षा तीसरी :- इस स्तर का परीक्षण करने हेतु आप उच्च प्राथमिक शालाओं या आपके यहां मुस्कान पुस्तकालय में भेजी गई CIIL की पुस्तकों का उपयोग करें और बच्चों को अलग-अलग कहानी की पुस्तक देते हुए उन्हें पढ़ने को कहें यह देखें कि लगभग 60 शब्द प्रति मिनट की गति से कहानी को पढ़ पा रहे हैं अथवा नहीं इसके बाद उनसे उसे पड़ी हुई पुस्तक कहानी से कम से कम चार प्रश्न पूछ कर उत्तर देने को कहें यदि कर में से तीन प्रश्नों के उत्तर दे पा रहे हैं तो उन बच्चों का नाम के टिक √ लगाएं ।

विद्यार्थी विकास सूचकांक का उपयोग –

एक चार्ट अथवा रजिस्टर में जब आप प्रत्येक बच्चे को प्राप्त दक्षता की प्रविष्टि करेंगे तो यह आपको आगे प्रत्येक बच्चे पर ध्यान देते हुए उनके लिए योजना बनाने में बहुत सहयोग कर सकेंगे जैसे कि जिन बच्चों को कोई दक्षता अच्छे से आती है उनको ऐसे बच्चों के साथ ग्रुप बनाया जिनको वह दक्षता ठीक से नहीं आती इन बच्चों को आपस में सीखने का अवसर देते हुए कुछ सीखे जाने पर पुनः परीक्षण कर देखें और सही पाए जाने पर ठीक करें I यदि बहुत अधिक बच्चे किसी दक्षता को ठीक से नहीं कर पा रहे हैं तो उनके दक्षता को पुनः किसी दूसरे तरीके से सीखाने का प्रयास करें और देखें कि कितने बच्चे हैं अब उस दक्षता से जुड़े सवाल को सही तरीके से कर पा रहे हैं I तीन माह या 100 दिन के बाद पुन परीक्षण करने पर कक्षा में कोई भी बच्चा ऐसा नहीं होना चाहिए जिनको निर्धारित दक्षताएं नहीं आती , ऐसे गांव को FLN गांव के रूप में चिन्हांकित करेंगे I यहां देखा जाएगा कि किसके संकुल, विकासखंड एवं जिले में से FLN गांव का प्रतिशत सबसे अधिक है इसके बाद अगले चरण में दक्षताओं को और अधिक कठिन लिया जाएगा और इन दक्षताओं में जिन गांवों को सफलता मिलेगी उन गांवों को FLN + गांव के रूप में पहचान करवाई जाएगी I

कक्षाविद्यार्थी विकास सूचकांक
बालवाडीDownload
कक्षा – 01Download
कक्षा – 02Download
कक्षा – 03Download
विद्यार्थी विकास सूचकांक

सुलभ संदर्भ Order

Edudepart

Get real time updates directly on you device, subscribe now.