SCHOOL CALANDER | MDM CALCULATOR | SALARY CHART

सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन प्रक्रिया[Sughghar Padhwaiya]

13,170

कोरोना लाकडाउन की वजह से बच्चों में हुए सीखने की क्षति को कम करते हुए उनमें सुधार लाने हेतु स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा एक अत्यंत महत्वपूर्ण कार्यक्रम “सुघ्घर पढ़वाईया” संचालित किया जा रहा है । इस कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य की शालाओं की सहभागिता की स्थिति का आकलन करने के लिये इस योजना में सभी स्कूल को शामिल होना है। इसकी पूरी प्रक्रिया आके बिन्दुवार दिया जा रहा है | इससे पहले यह योजना क्या है इसके लिये आप हमारे इस पोस्ट को पढ़ें | यहाँ हम केवल आकलन की पूरी प्रक्रिया को समझेंगे |

पोस्ट विवरण

सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन प्रक्रिया[Sughghar Padhwaiya]

सुघ्घर-पढ़वईया Sughghar Padhwaiya
सुघ्घर-पढ़वईया Sughghar Padhwaiya

सुघ्घर पढ़वईया योजना थर्ड पार्टी निरीक्षण निर्देशिका-

थर्ड पार्टी निरीक्षण हेतु निर्देशOpen
निरीक्षण हेतु अवलोकन निर्देशिकाOpen

सुघ्घर पढ़वईया योजना में विद्यालय की जानकारी अपडेट कैसे करें-

  • सबसे पहले हमें विद्यालय की जानकारी अपडेट करनी होगी ।
  • जिसके लिए हमें स्कूल की बेसिक जानकारी जैसे उपलब्ध कमरों की संख्या, पानी की व्यवस्था, टॉयलेट की व्यवस्था, संचालित कक्षा एवम स्कूल के फ़्रंट का फ़ोटो अपलोड करना होगा ।

सुघ्घर पढ़वईया योजना में शिक्षक की जानकारी अपडेट कैसे करें-

  • उसके बाद हमें शिक्षक जानकारी को अपडेट करना होगा ।
  • जिसके लिए हमें सभी शिक्षकों की कर्मचारी कोड की आवश्यकता होगी ।
  • कर्मचारी कोड द्वारा हम शिक्षक को जोड़ सकते हैं साथ ही शिक्षक का नाम काट सकते हैं ।
  • शिक्षक की बेसिक जानकारी जैसे लिंग, पद का नाम, उच्चतम शैक्षिक योग्यता, मोबाइल नंबर आदि अपडेट कर सकते हैं।
सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन प्रक्रिया[Sughghar Padhwaiya]

सुघ्घर पढ़वईया योजना में विद्यार्थी की जानकारी अपडेट कैसे करें-

  • सुघ्घर पढ़वईया योजना में बच्चों की जानकारी को दर्ज करना होगा |
  • जिसके लिए हमें Cgschool.in में जाके Student Entry करना होगा |
  • उसके बाद वहाँ से सारी जानकारी सुघ्घर पढ़वईया योजना पर दिखने लगेगी |
  • तो हमें सुघ्घर पढ़वईया योजना में अलग से अपडेट करने की आवश्यकता नहीं है |
  • Student Entry से सारी जानकारी हमें सुघ्घर पढ़वईया योजना में प्राप्त होगी ।
सुघ्घर पढ़वईया
सुघ्घर पढ़वईया

सुघ्घर पढ़वईया योजना में चुनौती कैसे लें-

  • विद्यालय की जानकारी,शिक्षक की जानकारी,विद्यार्थी की जानकारी अपडेट करने के बाद हमें प्रीव्यू के रूप में सारी जानकारी दिखेगी |.
  • जिसका नीचे अपने स्टाफ़ की सहमति से चुनौती लेने का Option दिया जाएगा जिसके द्वारा हम सुघ्घर पढ़वईया योजना पर चुनौती ले सकते हैं |

सुघ्घर पढ़वईया योजना में  प्रशिक्षण की मांग कैसे करें-

  • सुघ्घर पढ़वईया योजना पर माँग आधारित प्रशिक्षण का भी प्रबंध किया गया है |
  • आप को फ़ेस टू फ़ेस ट्रेनिंग, ऑनलाइन ट्रेनिंग, ब्लेंडेड मोड ट्रेनिंग एवं अकादमिक मटेरियल उपलब्ध कराया जा रहा है |
  • जिसके द्वारा हम अपने Skill को बेहतर कर सकते हैं
सुघ्घर पढ़वईया
सुघ्घर पढ़वईया

सुघ्घर पढ़वईया योजना में Slow Learner की एंट्री कैसे करें-

  • स्कूल में दर्ज सभी बच्चों में से वे बच्चे जो सीखने में कमज़ोर है उन्हें स्लो लर्नर की श्रेणी में रख सकते हैं |
  • उनके कालम के सामने टिक करने पर आपको 3 Option दिखाई देंगे |
    1. परिवार से बाहर
    2. ड्राप आउट बच्चे
    3. सीखने की गति में कमज़ोर
  • इसके आधार पर हम उन बच्चों में हुए लर्निंग लॉस को रिकवर करने के लिए Tools का उपयोग कर लर्निंग Recoverty कर सकते हैं|

सुघ्घर पढ़वईया योजना में ग्राम पंचायत/वार्ड पार्षद सर्टिफिकेट अपलोड कैसे करें-

  • इस सेक्शन में हमें स्कूल से बाहर बच्चों की एंट्री करनी है |और उनके लिए ग्राम पंचायत अथवा वार्ड पार्षद का सर्टिफ़िकेट अपलोड करना है |
  • सर्टिफ़िकेट में परिवार गाँव से बाहर है |
  • जिसमें बच्चे का नाम पिता का नाम कक्षा लिखकर संबंधित वार्ड या ग्राम पंचायत वार्ड पार्षद का सर्टिफ़िकेट प्राप्त कर सकते हैं |
  • इसके लिए नीचे 1 नमूना सर्टिफ़िकेट दिया जा रहा है |
ग्राम पंचायत/वार्ड पार्षद सर्टिफिकेटClick Here

सुघ्घर पढ़वईया योजना में अपने विद्यालय का स्व-आंकलन कैसे करें-

  • सारी जानकारी अब अपलोड करने के बाद अब आप विभिन्न बिंदुओं के आधार पर बच्चों का स्व-आंकलन कर सकते हैं |
  • बच्चों की दर्ज संख्या एवं आंकलन के दिन उपस्थित बच्चों की संख्या को दर्ज कर आंकलन दिनांक दर्ज कर कर सकते हैं |
  • इसके आधार पर निर्धारित दक्षता का माप कर दक्षता प्राप्त करने वाले विद्यार्थी और दक्षता के आधार पर अंक दे सकते हैं|
  • इस तरह से प्रत्येक बच्चे कहा सभी निर्धारित विषयों के आधार पर आंकलन कर जानकारी सुरक्षित कर सकते हैं|
  • इस तरह आपकी स्कूल का स्व-आंकलन हो जायेगा |
सुघ्घर पढ़वईया
सुघ्घर पढ़वईया

सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन अनुरोध कैसे करें-

  • अब चूँकि आपने जाँच लिया की बच्चे के स्व-आंकलन से बच्चे उन निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त कर चुके हैं जो निर्धारित की गई थी |
  • अतः आप थर्ड पार्टी आंकलन के लिए अनुरोध कर सकते हैं |
  • थर्ड पार्टी आंकलन का अनुरोध करने के बाद ब्लॉक व जिला स्तर पर गठित टीम द्वारा आपके स्कूल का निरीक्षण / भ्रमण किया जाएगा एवं बच्चों की दक्षता का आकलन किया जाएगा |
  • बच्चों के दक्षता प्राप्त करने के आधार पर आपके स्कूलों का मूल्यांकन होगा एवं स्कूल को अंक दिया जाएगा |
  • उस आधार पर आप के बच्चों का स्तर निर्धारित होगा इस तरह आप अपने बच्चों की दक्षता का आकलन कर थर्ड पार्टी आकलन कर बच्चों के स्तर में सुधार ला सकते हैं|

सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन अनुरोध वापस कैसे लेवें-

  • अब आप थर्ड पार्टी आंकलन के बाद यदि अनुरोध को वापस लेना चाहते हैं तो उसके लिए आप थर्ड पार्टी आंकलन अनुरोध को वापस ले सकते हैं |
  • नीचे दिए गये स्क्रीन शॉट की तरह ऑप्शन दिया रहेगा जहाँ से आप चुनौती को वापस ले सकते हैं |
  • आपको बता दें कि आपके स्कूलों में थर्ड पार्टी आंकलन तभी होगा जब आप स्वयं अनुरोध करते हैं |
  • अगर आपने अनुरोध वापस ले लिया तो आपकी स्कूलों का निरीक्षण नहीं किया जाएगा |
  • यह पूरी तरह से स्वेच्छा पर आधारित है कि आप अपने बच्चों को का स्तर जाँच स्वयं के विवेक से कर सकते हैं |
सुघ्घर पढ़वईया
सुघ्घर पढ़वईया

सुघ्घर पढ़वईया योजना में थर्ड पार्टी आकलन निरीक्षण निर्देश-

  • निरीक्षण दल के सदस्यों को सर्वप्रथम पोर्टल पर अपलोड की गई जानकारियों का सूक्ष्मता से अध्ययन करना चाहिए ।
  • निरीक्षण दल के सदस्यों को आपस में यह तय कर लेना चाहिए कि कौन सा सदस्य किस विषय की दक्षताओं का आकलन करेगा।
  • निरीक्षण दल के सदस्यों को अवलोकन अंतर्गत आबंटित किए गए विषय की दक्षताओं एवं उन पर आधारित आकलन के उपकरणों का सूक्ष्मता से अध्ययन कर उन पर आपस में चर्चा करनी चाहिए। आवश्यकता महसूस होने पर SCERT के विषय समन्वयकों से भी चर्चा की जा सकती है ।
  • निरीक्षण दल के सदस्यों से यह अपेक्षा की जाती है कि सैंपल टूल्स के आधार पर वे स्वयं भी दक्षता आधारित प्रश्नों का निर्माण कर सके ।
  • निरीक्षण दल विद्यालय अवलोकन पूर्व विद्यालय के प्रधान पाठक से चर्चा कर अवलोकन तिथि से अवगत करा देवें ।
  • निरीक्षण दल को अवलोकन प्रक्रिया तथा प्रमाणीकरण विषयक जानकारी सुस्पष्ट होनी चाहिए। जैसे कि –
    • कक्षा 1 एवं 2 के विद्यार्थियों में हिंदी, गणित, अंग्रेजी की दक्षताओं की जांच की जाएगी।
    • कक्षा 3 से 5 के विद्यार्थियों में हिंदी, गणित, अंग्रेजी एवं पर्यावरण विषय की दक्षताओं की जांच की जाएगी।
    • कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों में हिंदी, गणित, अंग्रेजी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान की दक्षताओं की जांच की जाएगी। शाला में दर्ज कुल विद्यार्थियों के संख्या की 98% उपस्थिति होने पर ही निरीक्षण दल द्वारा आकलन किया जाएगा।
    • विद्यालय के सभी विद्यार्थियों का आकलन, कक्षा के लिए निर्धारित सभी अकादमिक दक्षताओं के लिये किया जायेगा।
    • प्रत्येक दक्षता में कक्षा की दर्ज संख्या का कम से कम 95% प्रतिशत विद्यार्थियों द्वारा सफलतापूर्वक प्रदर्शन किये जाने पर ही अंक देय होंगे। यदि किसी दक्षता में 95% से कम विद्यार्थी ही सही प्रदर्शन कर पाते हैं तो उस दक्षता में 0 अंक प्राप्त होगा ।
    • जब विद्यालय को 90% या इससे अधिक अंक प्राप्त होते हैं उस विद्यालय को सुघ्घर पढ़वईया प्लेटिनम स्कूल का प्रमाण पत्र दिया जाएगा।
    • यदि विद्यालय को 85% से अधिक किन्तु 90% से कम अंक प्राप्त होते है तो उसे सुघ्घर पढ़वईया गोल्ड स्कूल का प्रमाण पत्र दिया जाएगा।
    • यदि विद्यालय को 80% से अधिक किन्तु 85% से कम अंक प्राप्त होते है तो उसे सुघ्घर पढ़वईया सिल्वर स्कूल का प्रमाण पत्र दिया जाएगा।
    • प्रमाण पत्र प्राप्त विद्यालयों तथा उनके सभी शिक्षकों को स्वतंत्रता दिवस अथवा गणतंत्र दिवस पर प्रमाण पत्र के साथ सम्मानित किया जाएगा।
    • यदि कोई विद्यालय केवल सिल्वर प्रमाण पत्र ही प्राप्त करता है तो ऐसे विद्यालय को गोल्ड अथवा प्लेटिनम प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए प्रेरित करें।
    • निरीक्षण दल के सदस्य NICler तथा Telepractice App का उपयोग करते हुए जहाँ तक संभव हो विद्यार्थियों के आकलन का प्रयास करें ।
    • विकासखंड स्तर पर चयनित निरीक्षण दल के सदस्यों को उस विकासखंड के अंतर्गत आने वाले सभी संकुलों तथा विद्यालयों के लिए मेंटोर की भूमिका निभानी है । अत: उनकी इस योजना से जुड़ें सभी पहलुओं पर समझ होना बेहद जरुरी है ।
    • निरीक्षण दल इस मानसिकता के साथ तैयार रहे कि आकलन की प्रक्रिया में एक या दो दिन से अधिक समय भी लग सकता है।
    • आकलन के दौरान विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के साथ सौम्यता से व्यवहार करें ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.