Join Our Community

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में खुलेंगे बालवाड़ी

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में खुलेंगे बालवाड़ी

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप छत्तीसगढ़ के 6536 स्कूल जहाँ स्कूल परिसर में ही आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित है वहां अब छोटे बच्चों के लिये Kindergarten की तर्ज पर ‘बालवाड़ी’ प्रारंभ की जायेगा। बालवाड़ी’ नाम से संचालित होने वाली इस योजना में राज्य के 3 लाख 23 हजार 624 विद्यार्थियों में से 68 हजार 54 विद्यार्थी इसी सत्र 2022-23 से लाभान्वित होंगे।

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में खुलेंगे ‘बालवाड़ी‘।

छत्तीसगढ़ में ‘बालवाड़ी’Download Order
शैक्षणिक कैलेण्डर 2021-22 जारी दिसंबर में अर्धवार्षिक और अप्रैल में होगी वार्षिक परीक्षा भवन
शैक्षणिक कैलेण्डर 2021-22 जारी दिसंबर में अर्धवार्षिक और अप्रैल में होगी वार्षिक परीक्षा

क्या और कैसे होगा ‘बालवाड़ी’

  • बालवाड़ी प्री-स्कूल की तर्ज पर संचालित होगी।
  • जहां 5 से 6 वर्ष के आयु समूह के बच्चों को शैक्षणिक एवं खेल के माध्यम से शिक्षा मिलेगी।
  • ‘बालवाड़ी’ के संचालन के लिए बच्चों की सामग्री ‘बालवाटिका’ तैयार की जा चुकी है।
  • प्राथमिक शाला के शिक्षकों के प्रशिक्षण के लिये आवश्यक तैयारी कर ली गई है।
  • बालवाड़ी का संचालन स्कूल परिसर में भोजन अवकाश के पहले 2 घंटे संचालित किये जायेंगे।
  • बालवाड़ी संचालित किए जाने से बच्चों में बुनियादी दक्षता में वृद्धि होगी।
  • इस योजना से प्राथमिक स्तर के बच्चों का शैक्षणिक स्तर का सुधरेगा ।

स्कूलों में बालवाड़ी खोले जाने के लिये मानक:-

  1. प्राथमिक शाला के परिसर में आंगनबाड़ी संचालित हो।
  2. आंगनबाड़ी में 5-6 आयु वर्ग के कम से कम 10 बच्चे उपलब्ध हो।
  3. प्राथमिक शाला में बालवाड़ी के बच्चों को सीखने के अवसर देने हेतु कक्ष की उपलब्धता हो।
  4. प्राथमिक शाला में कार्यरत शिक्षकों में से बालवाडी के बच्चों के शिक्षण कार्य हेतु उपलब्धता हो।

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया @WhatsApp @Twitter @Telegram@Facebook @ Youtube को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page