शिक्षक स्व-आकलन
शिक्षक स्व-आकलन

cgschool पोर्टल में शिक्षकों का Online स्व-आकलन (TSA-CG)

संचालक राज्य शैक्षिक अनुसंधान परिषद रायपुर के निर्देशानुसार पूरे राज्य स्तर पर सभी प्राथमिक, माध्यमिक, हाई व हायर सेकेंडरी स्कूल शिक्षकों का स्व आकलन cgschool.in पोर्टल के माध्यम से किया जाना है ताकि शिक्षकों में दक्षता विकास हेतु प्रशिक्षण आयोजित किए जा सके | इस हेतु राज्य स्तर पर वेबीनार का आयोजन दिनांक 30 अप्रैल 2022 को दोपहर 3:00 बजे किया गया | स्व आकलन की प्रक्रिया और तकनीकी जानकारी के मुख्य बिन्दुओं को यहाँ दिया जा रहा है जिससे आप अपना स्व आकलन कर सकते हैं।

cgschool पोर्टल में शिक्षकों का Online स्व-आकलन

शिक्षक स्व-आकलन
शिक्षक स्व-आकलन

अब स्व आकलन 5 मई तक

शिक्षक स्व-आकलन मार्गदर्शिका Download Here
अपने जिले का स्व आकलन देखेंClick Here

शिक्षक स्व-आकलन (TSA-CG) का उद्देश्य –

  1. शिक्षक अपनी क्षमता और कमजोरियों को पहचान पायें ।
  2. शिक्षक अपने Upgrade के क्षेत्रों को समझ पायें।
  3. शिक्षक स्वयं को विषय अध्यापन तक सीमित ना कर अपनी वृहद भूमिका को जान पायें ।
  4. शिक्षक उनसे जुड़ी अपेक्षाओं के साथ अपने दायित्व और जिम्मेदारियों को समझ पायें।
  5. इस आकलन के आधार पर Training Needs Analysis किया जाएगा एवं वर्ष 2022-23 की प्रशिक्षण प्रक्रिया में इस्तेमाल किया जाएगा।

स्व आकलन के मुख्य बिन्दु :-

  • कुल 6 आकलन क्षेत्र की 40 बिन्दुओं के आधार पर होगा शिक्षक स्व आकलन ।
  • यह आकलन केवल शासकीय शिक्षकों के लिये हो रहा ।
  • मूलरूप से cgschool.in में पंजीकृत सभी शिक्षकों का स्व आकलन होना है ।
  • सभी बिन्दुओं पर आकलन के कई बिन्दु होंगे।
  • 30 अप्रैल 2022 से 3 मई 2022 तक करना है सभी शिक्षकों स्व आकलन।
  • अगर सारे Indicators को पहले से पढ़ लेते हैं और अपना स्तर जान लेते हैं तो 15 से 20 मिनट में आपका आकलन हो सकता है।
  • एक बार Login होने पर 25-30 मिनट में Log Out हो जायेगा इसलिये आप पहले सभी बिन्दुओं को पढ़ ले समझ ले और फिर स्व आकलन करें जिससे Data save करने में सुविधा हो।
  • बीच बीच में Save Draft करते जायें जिससे आपका Data lost न हो ।

स्व आकलन के 6 क्षेत्र {Performance Standard} :-

1️⃣सीखने की रुपरेखा बनाना:-

मुख्य रुप से इस Section में lesson plan (पाठ योजना) के बारे में बताया गया है कि कैसे हम कक्षा में जाने से पहले अपनी तैयारी करते हैं। और उसके आधार पर अपने अध्यापन को कैसे बेहतर बनाते हैं।

2️⃣विषय वस्तु पर समझ कितनी है –

उस विषय वस्तु में आपकी समझ कैसी है इसके बारे में इस Section में शिक्षक का आकलन करना है।

3️⃣अधिगम को सरल बनाने की नीतियाँ :-

बच्चों को सिखाने के लिये हम कैसे सरल से सरल विधा का उपयोग करते हैं इस Section में शिक्षण को किस सरल तरीके से बच्चों तक ले जाते हैं इसका आकलन है।

4️⃣शिक्षकों का बच्चों, पालकों व स्टाफ से संबंध :-

इस Section में मुख्य रुप से शिक्षक का अपने बच्चों से, स्टाफ से व समुदाय से कैसा संबंध है इस बारे में स्व आकलन करना है।

5️⃣शिक्षक का पेशेवर विकास –

शिक्षक शैक्षिक क्षेत्र में अपने आपको कैसे Update रखता है। वह नयी नयी चीजों को कैसे सिखता है इस बारे में खुद स्व आकलन करना है ।

6️⃣विद्यालय का विकास –

अपनी भूमिका से विद्यालय को कैसे बेहतर बनाता है इस बारे में खुद का स्व आकलन करना है ।

शिक्षक स्व-आकलन के KEY WORDS या सह क्षेत्र:-

  • निष्पादन मानक(Performance Standard) :- आकलन के वह क्षेत्र जिनमें शिक्षक स्वयं का आकलन करेगा। इसमें कुल 6 क्षेत्र हैं।
  • निष्पादन संकेतक/सूचक(Performance Indicators) :- आकलन के उन क्षेत्रों से जुड़ी हुई अपेक्षाएँ हैं जिसके लिये आकलन करना है। इसे सह Performance Standard भी कह सकते हैं। इसमें कुल 40 Performance Indicators हैं जिसके द्वारा अपना स्व आकलन करना है।
  • निष्पादन बिन्दु(Performance Points) :- अपेक्षाएँ जो निष्पादन बिन्दु / उपलब्धि बिन्दु अर्जित करने पर पूरी होती है। इसमें 5 बिन्दु है जिसमें शिक्षक हाँ या नहीं में अपना आकलन करेंगे। जो दिये गये विभिन्न बिन्दुओं को ✔️करके Performance Level प्राप्त कर सकते हैं
  • निष्पादन स्तर(Performance Level) :- आकलन से जुड़ी हुई अपेक्षाओं के स्तर को प्राप्त करने हेतु दक्षताएँ।

शिक्षक स्व-आकलन कैसे करें:-

  1. सबसे पहले cgschool.in में login करना है ।
  2. उसके बाद आपको ऊपर Left Corner में जाके शिक्षक के कार्य Section में जाना है।
  3. उसके बाद शिक्षक स्व आकलन Section में जाने पर आपको सारे Tools दिखायी देगें जिसे पढ़कर अपना स्वयं का आकलन करना है।
  4. आकलन के लिये आप अपने विषय को पहले Select कर लेंगे और उस आधार पर आकलन करेंगे।
  5. आकलन के लिये निष्पादन बिन्दु(Performance Standard) के सामने वाले Box को ✔️ करके ही आप आकलन कर सकते हैं नहीं तो आपका Option Enable नहीं होगा।
  6. साथ ही निष्पादन बिन्दु(Performance Points) में एक से अधिक बिन्दुओं को जिसे आप वाकई स्कूल में अपनाते हैं उसे ✔️ कर सकते हैं।
  7. निष्पादन बिन्दु(Performance Points) में जितने बिन्दुओं को आप जानते हैं या ✔️ किये हैं उसके आधार पर आपका Performance Level तय होगा।
  8. जिस Indicators में आपको लगता है कि मुझे इसमें प्रशिक्षण की आवश्यकता है तो प्रशिक्षण मानक Section में जरुर ✔️ करें ।
  9. शिक्षक जितने उपलब्धि बिन्दु को प्राप्त करता है वही शिक्षक का निष्पादन स्तर होगा।

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया @ Telegram @ WhatsAppFacebook @ Twitter @ Youtube को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

This Post Has 4 Comments

  1. Ramnarayan markam

    बहुत सुंदर सर जी शिक्षक अपना स्व आकलन कर अपना स्तर का जाँच कर पाएंगे🙏🙏

  2. Deepa tirkey

    शिक्षकों को अपने विषय से सम्बंधित सहायक सामग्री का उचित रूप से प्रयोग करना

  3. रमेश प़साद कुलदीप

    कक्षा जाने से पहले तैयारी करना चाहिए

  4. यह अच्छा प्रयास है शासन की तरफ से। लेकिन इसे लिखीत में लेना चाहिए था क्योंकि कई लोगों को आनलाइन में दिक्कत आता है इसलिए लिखित में स्व आंकलन कराना चाहिए था।