हमसे जुड़ें:

Telegram @ WhatsApp @ Facebook @ Twitter @ Youtube

शिक्षा विभागीय राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक व उसके निर्णय ।

861

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक व उसके निर्णय । [State level review meeting and its decisions-2021]

दिनांक 24 सितम्बर 2021 को प्रदेश के समस्त संभागीय संयुक्त संचालक, जिला शिक्षा अधिकारीगण एवं डी.एम.सी. समग्र शिक्षा की विभागीय समीक्षा बैठक माननीय मंत्री जी स्कूल शिक्षा छत्तीसगढ़ की अध्यक्षता में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद शंकर नगर रायपुर के सभागार में आयोजित की गई। बैठक में प्रमुख रूप से डॉ. आलोक शुक्ला प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग, डॉ. कमलप्रीत सिंह सचिव स्कूल शिक्षा विभाग/आयुक्त, लोक शिक्षण छत्तीसगढ़, श्री नरेन्द्र कुमार दुग्गा मिशन संचालक समग्र शिक्षा, श्री डी. राहुल वेंकट संचालक एस.सी.ई.आर.टी. रायपुर, समस्त संभागीय संयुक्त संचालकगण, जिला शिक्षा अधिकारीगण, डी.एम.सी. समग्र शिक्षा एवं संचालनालय, समग्र शिक्षा एवं एससीईआरटी के अधिकारीगण उपस्थित रहे ।

राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक विस्तृत निर्देश👉 [PDF Download]

समीक्षा बैठक का संक्षिप्त रुप से मुख्य चर्चा के बिन्दु:-

सचिव, स्कूल शिक्षा एवं आयुक्त लोक शिक्षण छत्तीसगढ़ द्वारा समीक्षा:-

  1. सीधी भर्ती :- प्रदेश में संभागीय एवं जिला स्तर पर सीधी भर्ती की प्रक्रिया पूर्ण के संबंध में विस्तृत निर्देश शासन द्वारा जारी किये गये हैं इसी परिप्रेक्ष्य में सचिव / आयुक्त स्कूल शिक्षा द्वारा समस्त जिला अधिकारियों से पृथक पृथक रूप से समीक्षात्मक विवेचना की गई। जिसमें मुख्य रुप से एकल शाला में पदांकन की जानकारी दी गयी।
  2. बच्चों का शाला प्रवेश :- शिक्षकों की भर्ती पश्चात शालाओं में अध्ययन अध्यापन की सुचारू व्यवस्था बनाये रखते हुए बच्चों एवं शिक्षकों की शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये साथ ही बच्चों एवं शिक्षकों का डाटा पोर्टल में अपलोड किये जाने की कार्यवाही अविलंब किये जाने के निर्देश सचिव स्कूल शिक्षा द्वारा दिये गये । इसके अतिरिक्त सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि कोरोना महामारी के रोकथाग हेतु सभी शिक्षकों का टीकाकरण 15 अक्टूबर 2021 तक कराया जाना अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें ।
  3. पी.एफ.एम. सिस्टम से खाता संचालन संबंध में :- भारत शासन द्वारा संचालित केन्द्रीकृत योजनाओं का लाभ सीधे हितग्राही को देने के लिये एक सिस्टम लाया गया है। यह प्रक्रिया पूर्णरूपेण नेट बैंकिंग होगी। अतः ऐसे बैंकों में संयुक्त खाता खोला जाने के निर्देश दिये गये।
  4. सड़क सुरक्षा :- यातायात नियमों की सार्थकता के लिये “सड़क सुरक्षा ओलंपियाड” जैसे प्रतियोगिता का आयोजन जिला स्तर पर आयोजित किये जाने संबंधी निर्देश दिये गये ।

संचालक, एस.सी.ई.आर.टी. द्वारा समीक्षा:-

  1. बेसलाईन आकलन समीक्षा :- राज्य में बेसलाईन आकलन की स्थिति की समीक्षा की एवं दोबारा होने वाले आकलन के प्रविष्टि संबंधी जानकारी दी गयी ।
  2. निष्ठा में प्राचार्य एवं शिक्षकों की प्रतिभागिता की समीक्षा :- निष्ठा (सेकेण्डरी) में प्राचार्य एवं शिक्षकों की प्रतिभागिता के संबंध में समीक्षा की गई।

प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा समीक्षा:-

  1. स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पदस्थापना :- प्रदेश में शासन की महत्वपूर्ण योजना अन्तर्गत संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में अद्यतन पदस्थापना के संबंध में समस्त जिला शिक्षा अधिकारियों से पृथक-पृथक रूप से समीक्षात्मक जानकारी प्राप्त की गई ।
  2. आधारभूत सुविधाएँ :- प्रदेश में संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी विद्यालय में बच्चों का शत-प्रतिशत प्रवेश सुनिश्चित कराया जाना एवं शत प्रतिशत गणवेश का वितरण, ग्रंथालय में पुस्तकों की उपलब्धता आदि आधारभूत सुविधाओं की उपलब्धता के निर्देश दिये गये ।
  3. स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम में तिमाही छमाही परीक्षा का आयोजन :- विद्यालयों में तिमाह परीक्षा 10 अक्टूबर 2021 तथा छमाही परीक्षा 31 दिसम्बर 2021 तक तथा स्थानीय परीक्षा 15 मार्च 2022 तक अनिवार्य रूप से संपादित करने के निर्देश ।
  4. सतत मूल्यांकन :- प्रदेश में वर्तमान में 1 लाख 32 हजार बच्चों का सतत मूल्यांकन रिपोर्ट वेबसाइट में अपलोडिंग का कार्य सुनिश्चित किये जाने के निर्देश प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा दिये गये हैं । साथ ही शैक्षिक कैलेण्डर भी जारी करने के निर्देश दिये गये ।
  5. इन्टर हाउस प्रतियोगिता :- प्रदेश में संचालित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट विद्यालयों के मध्य- महानदी, इन्द्रावती, शिवनाथ एवं अरपा इन्टर हाउस निर्माण कर सांस्कृतिक कार्यक्रम दिनांक 1 एवं 2 दिसम्बर 21 को दुर्ग में एवं खेल-कूद कार्यक्रम जिला रायपुर में 23-24 अक्टूबर 2021 को आयोजित किये जाने के निर्देश दिये गये ।
  6. बेसलाईन आकलन :- बच्चों के अध्यापन का बेसलाईन आकलन एवं प्रविष्टि अनिवार्य रूप से करने सभी जिला शिक्षा अधिकारी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे तथा एच.डी. क्वालिटी के फोटोग्राफ की भिजवाने की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे ।
  7. हस्तलिखित मैगजीन :- प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं के बच्चों में लेखन कौशल को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विज्ञान, गणित एवं सामाजिक विज्ञान विषय के हस्तलिखित लेख स्कूलों में प्रदर्शित किये जावे। जिला स्तर पर चयनित हस्तपुस्तिकाओं की प्रदर्शनी राज्य स्तर पर आयोजित किये जानें का निर्देश ।
  8. प्रयोगशाला का संचालन :- कक्षा 9 से 12 तक की शालाओं हेतु प्रयोगशाला स्थापित करने व 31 दिसम्बर 2021 तक प्रोजेन्टेशन कराने के निर्देश दिये गये ।
  9. सतत एवं सुचारू निरीक्षण :- शालाओं का प्रभावी एवं सुचारू निरीक्षण की महत्ता को दृष्टिगत रखते हुए निरीक्षण कैलेण्डर चैक लिस्ट अनुसार स्वयं निरीक्षण तथा अधीनस्थों को भी निरीक्षण किये जाने के निर्देश दिये गये ।
  10. वर्चुअल स्कूल :- प्रदेश में अध्ययन से वंचित अप्रवेशित बच्चों का ओपन स्कूल के तर्ज पर वर्चुअल स्कूल में रजिस्ट्रेशन कराना सुनिश्चित करने का निर्देश ।
  11. स्थानांतरण आवेदन :- प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा निर्देशित किया गया कि 1 अक्टूबर के पश्चात स्थानांतरण हेतु आवेदित करने वाले शिक्षकों के स्थानांतरण आवेदन ऑन लाईन लिये जाने की कार्यवाही का निर्देश ।
  12. विद्या मितान :- पुर्व में विद्या मितान की नियुक्ति की गयी थी व वर्तमान में नवीन व्याख्याताओं की नियुक्ति की गई जिससे विद्या मितान अतिशेष की स्थिति में है, जिनकी जानकारी 25 सितंबर 21 तक अनिवार्य रूप से संचालनालय को उपलब्ध कराये जाने के निर्देश ।
  13. व्यावसायिक शिक्षा :- आईटीआई की तर्ज पर व्यावसायिक पाठ्यक्रम संचालित करने के निर्देश । इस हेतु कलेक्टर एवं सम्बंधित आई.टी.आई के प्राचार्य से समन्वय स्थापित कर प्रत्येक ब्लॉक के एक-एक हायर सेकेण्डरी स्कूल में रोजगारोन्मुखी व्यावसायिक पाठ्यक्रम संचालित करने के निर्देश ।
  14. जर्जर एवं अति जर्जर भवन :- समस्त जिला शिक्षा अधिकारी शालाओं का सघन निरीक्षण सुनिश्चित कर जर्जर एवं अति जर्जर शाला भवनों की सूची तैयार कर योजनाबद्ध कार्ययोजना तैयार कर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एवं कलेक्टर से समन्वय स्थापित कर सभी निर्माण कार्य की समीक्षा बैठक कराकर कार्य को तत्काल प्रारंभ कराकर पेयजल योजना, शौचालय का कार्य को प्राथमिकता के तौर पर कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश ।
राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक व उसके निर्णय ।
राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक व उसके निर्णय ।

Follow-Edudepart.com

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.