You are currently viewing निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी

निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी

Table of Contents

    निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम क्या है ?

    NISHTHA (National Initiative for School Head’s and Teacher’s Holistic Advancement) योजना केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई राष्ट्रीय पहल है। सरकार ने स्कूलों में पढ़ा रहे शिक्षकों को एक खास प्रशिक्षण देने की बात कही है। फिलहाल इनमें पहली से आठवीं तक के बच्चों को पढ़ाने वाले करीब 42 लाख शिक्षकों को शामिल किया जाएगा। इस योजना को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) रमेश पोखरियाल निशंक ने लॉच किया है।

    निष्ठा : स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों की समग्र प्रगति के लिए राष्ट्रीय पहल

    “एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण के माध्यम से स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार” के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम का उद्देश्य प्रारंभिक स्तर पर सभी शिक्षकों और स्कूल प्राधानाचार्य की क्षमता का निर्माण करना है। पदाधिकारियों (राज्य, जिला, ब्लॉक, क्लस्टर स्तर पर) को सीखने के प्रतिफलों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी – केंद्रित शिक्षाशास्त्र, शिक्षा में नई पहल, बहुल शिक्षाशास्‍त्रों आदि के माध्यम से बच्चों की विविध आवश्यकताओं को संबोधित करने पर एकीकृत तरीके से प्रशिक्षित किया जा रहा है। यह राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर राष्ट्रीय संसाधन समूह और राज्य संसाधन समूहों (एसआरजी) का गठन करके आयोजित किया जाएगा। इस क्षमता निर्माण की पहल के साथ एक कड़ी निगरानी और सहायक तंत्र का भी उपयोग किया जाएगा।

    संकुल समन्वयकों के लिये दीक्षा पोर्टल पर Online कोर्स:-

    राज्य में सभी संकुल समन्वयकों के लिए SCERT द्वारा लेंगुएज लर्निंगफाउंडेशन के सहयोग से प्रारंभिक कक्षाओं में अकादमिक सहयोग हेतु दो सप्ताह का किया गया है। राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा द्वारा सभी जिले के सभी जिला मिशन समन्वयकों को पत्र जारी कर सभी CACs को तत्काल कोर्स में पंजीयन कर दिनांक 30 जनवरी 2022 तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करने को कहा गया है ।

    दीक्षा App पर संकुल समन्वयकों का आनलाईन कोर्स आदेश 👇

    दीक्षा एप / पोर्टल पर दो सप्ताह का ऑनलाइन कोर्स :-

    • राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद्, समग्र शिक्षा छत्तीसगढ़ एवं लैंग्वेज एंड लर्निंग फाउंडेशन दिल्ली के सहयोग से बनाया गया है।
    • यह कोर्स सभी संकुल शैक्षिक समन्वयकों के लिए अनिवार्य है।
    • कोर्स हेतु संकुल शैक्षिक समन्वयकों को समाह में केवल प्रति सप्ताह 7-8 घंटे देना होगा।
    • कोर्स की अवधि 12 घंटे है, प्रति मॉड्यूल पढ़ने का अनुमानित समय 3-4 घंटे हैं।
    • 30 जनवरी 2022 तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करने होंगे कोर्स ।

    कोर्स का उद्देश्य:-

    • निपुण भारत मिशन के उद्देश्यों के बारे में समझ बनाना |
    • प्रारंभिक कक्षाओं में अकादमिक सहयोग की जरूरत और उसमें अकादमिक सहयोगकर्ता की भूमिका को बेहतर रूप से समझना |
    • बुनियादी साक्षरता और संख्या ज्ञान से जुड़ी मुख्य अवधारणाओं को समझना, जिससे प्रारंभिक कक्षाओं को बेहतर बनाया जा सके
    • स्कूल और संकुल स्तर पर अकादमिक सहयोग की विभिन्न रणनीतियों और गतिविधियों को समझना जिससे शिक्षकों को प्रभावी अकादमिक सहयोग दिया जा सके।

    कोर्स का संचालन :

    • कोर्स का संचालन दीक्षा ऑनलाइन पोर्टल द्वारा किया जाएगा, जिसे मोबाइल पर आसानी से कर सकते हैं।
    • कोर्स में कुल 4 मॉड्यूल है, जिन्हें 10 इकाईयों में विभाजित किया गया है |
    • प्रत्येक इकाई में मुख्य रूप से पढ़ने के लिए स्लाइड्स देखने के लिए कुछ चिडियों और करने के लिए कुछ गतिविधियाँ होंगी |
    • हर इकाई के अंत में स्व-आकलन के कुछ प्रश्न होंगे।
    • पूरे कोर्स में कुल 2 क्विज़ होंगी।
    • क्विज़ करने के लिए कुल 3 अवसर मिलेंगे आपके द्वारा प्राप्त किए गए सबसे अधिकतम अंक को अंतिम माना जाएगा।

    कोर्स का प्रमाण पत्र कब मिलेगा:-

    • कोर्स प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए प्रतिभागी को दोनों विज को न्यूनतम 50% अंक से उत्तीर्ण करना होगा।

    कोर्स का पंजीयन:-

    1. दीक्षा एप मे लॉगिन करे, लॉगिन उपरांत अपना व्यक्तिगत विवरण अच्छी तरह से जांच लें।
    2. दीक्षा एप के ऊपर दाएं कोने पर स्थित सर्च बटन को क्लिक करे एवं CACCG2021 टाइप करें।
    3. आपको नीचे बाएं कोने पर निम्न कोर्स आइकॉन दिखाई देगा।
    4. मोबाईल में दीक्षा एप पर यदि किसी मॉड्यूल के प्रशिक्षण में समस्या आती है तो लैपटॉप या डेस्कटॉप या मोबाईल मे आउज़र की सहायता से दीक्षा के वेबसाइट http://diksha.gov.in में लॉगिन फरके भी अपना प्रशिक्षण पूरा किया जा सकता है।
    5. कोर्स पूर्ण होने पर आपको प्रमाण पत्र ऑनलाइन दीक्षा पोर्टल के माध्यम से जारी होगा इसे डाउनलोड कर सुरक्षित रख ले |
    6. मोबाईल पर किन्हीं कारणों से प्रमाण पत्र डाउनलोड ना हो या अपूर्ण प्रमाण पत्र डाउनलोड होने पर ब्राउज़र पर जाकर दीक्षा के वेबसाइट http://diksha.gov.in के माध्यम से भी अपना प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते है।
    7. यदि आप को कोई तकनीकी समस्या हो तो Help Line No. 8851427468 से सहयोग प्राप्त कर सकते हैं।

    NISHTHA के उद्देश्य:

    नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स होलिस्टिक एडवांसमेंट (NISHTHA) एकीकृत शिक्षक प्रशिक्षण के माध्यम से स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिएएक क्षमता निर्माण कार्यक्रम है । इसका उद्देश्य प्रारंभिक स्तर पर सभी शिक्षकों और स्कूल प्रिंसिपलों के बीच दक्षता का निर्माण करना है ।

    निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम के कार्यान्वयन:

    पदाधिकारियों (राज्य, जिला, ब्लॉक स्तर पर) को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी – केंद्रित शिक्षाशास्त्र, शिक्षा में नई पहल, कई शिक्षाओं के माध्यम से बच्चों की विभिन्न आवश्यकताओं को संबोधित करने, आदि पर एकीकृत तरीके से प्रशिक्षित किया जाएगा।

    यह राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर राष्ट्रीय संसाधन समूह (NRG) और राज्य संसाधन समूह (SRG) का गठन करके आयोजित किया जा रहा है, जो बाद में 42 लाख शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा ।

    निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम क्या है ?

    निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम के अपेक्षित परिणाम

    • छात्रों के सीखने के परिणामों में सुधार
    • समावेशी कक्षा के माहौल को सक्षम और समृद्ध बनाना
    • शिक्षकों को छात्रों के सामाजिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक आवश्यकता के प्रति सतर्क और उत्तरदायी होने के लिए पहले स्तर के परामर्शदाताओं के रूप में प्रशिक्षित किया जाता है
    • शिक्षकों को कला का उपयोग करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है ताकि छात्रों में रचनात्मकता और नवीनता बढ़े
    • शिक्षकों को उनके समग्र विकास के लिए छात्रों के व्यक्तिगत-सामाजिक गुणों को विकसित करने और मजबूत करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है
    • स्वस्थ और सुरक्षित स्कूल वातावरण का निर्माण
    • शिक्षण-शिक्षण और मूल्यांकन में आईसीटी का एकीकरण
    • तनाव मुक्त स्कूल आधारित मूल्यांकन का विकास करें, जो सीखने की दक्षताओं के विकास पर केंद्रित है
    • शिक्षक गतिविधि आधारित शिक्षण को अपनाते हैं और रॉट लर्निंग से योग्यता आधारित शिक्षण की ओर बढ़ते हैं
    • शिक्षक और स्कूल प्रमुख स्कूली शिक्षा में नई पहल के बारे में जानते हैं
    • नई पहल को बढ़ावा देने के लिए स्कूलों में शैक्षिक और प्रशासनिक नेतृत्व प्रदान करने के लिए स्कूलों के प्रमुखों का परिवर्तन

    निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम में किन लोगों को शामिल किया जाएगा और यह प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को कैसे लाभान्वित करेगा

    यह प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों, स्कूल प्रधानाचार्यों, एसएमसी और राज्य / जिला / ब्लॉक / क्लस्टर स्तर के अधिकारीयों के लिए आयोजित किया जाएगा । यह कार्यक्रम प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को निम्नलिखित तरीकों से लाभान्वित करेंगे :

    I. सभी प्राथमिक चरण शिक्षण पर काम कर रहे शिक्षकों, प्रधानाचार्यों, ब्लॉक संसाधन समन्वयकों, क्लस्टर संसाधन समन्वयकों को सीखने के परिणाम, बच्चों के सामाजिक व्यक्तिगत गुणों में सुधार, स्कूल-आधारित मूल्यांकन, नई पहल, स्कूल सुरक्षा और विभिन्न विषयों की शिक्षा, आदि के लिए शिक्षार्थी-शिक्षण प्रशिक्षण में समाविष्ट किया जाएगा।

    II.इसी तरह, डीआईईटी, एससीईआरटी, आईए एसई, सीटीई, आदि के संकाय सदस्यों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षण, शिक्षा में नई पहल, बच्चों के सामाजिक गुणों को बेहतर बनाने और विभिन्न विषयों की शिक्षा आदि शिक्षार्थी के प्रशिक्षण के लिए समाविष्ट किया जाएगा।

    FOLLOW – Edudepart.com

    शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया @ Telegram @ WhatsAppFacebook @ Twitter @ Youtube को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

    Leave a Reply