You are currently viewing मातृभाषा दिवस का आयोजन

मातृभाषा दिवस का आयोजन

हमने अपने शाला में अभी तक बहुत से दिन मनाएं हैं। उनमें से एक महत्वपूर्ण दिवस है- मातृभाषा दिवस। क्या आपको इस दिवस के महत्त्व व उद्धेश्य पर जरा विचार किया है? नहीं तो, आज हम इस दिवस के बारे में जानकारी लेंगे।

मातृभाषा दिवस का आयोजन

सभी शालाओं में माह फ़रवरी में दिनांक 21 फरवरी को मातृभाषा दिवस के रूप में आयोजित किये जाने सम्बन्धी निर्देश भारत सरकार की ओर से प्राप्त होता है।

मातृभाषा दिवस का आयोजन

मातृभाषा दिवस का उद्देश्य

मातृभाषा दिवस को मनाये जाने के पीछे निम्नलिखित उद्देश्य हैं-

  • भारत में भाषाई विविधताओं को सामने लाना |
  • अपनी मातृभाषा के साथ साथ अन्य भाषा को भी इस्तेमाल करने हेतु प्रोत्साहित करना |
  • भारत की सांस्कृतिक विविधता, साहित्य, कला, लेख एवं अन्य प्रकार की विविधताओं से अवगत कराना
  • मातृभाषा के साथ-साथ अन्य भाषाओं को सीखने हेतु प्रोत्साहित करना |

मातृभाषा दिवस का शाला में आयोजन


इस दिवस को आयोजित करने हेतु निम्नलिखित गतिविधियाँ शालाओं में आयोजित करवाई जा सकती हैं –

  • मातृभाषा में गीत, कविताएँ, निबंध, चित्रकला प्रतियोगिताएं |
  • नाटक, प्रदर्शनी, संगीत, कला प्रतियोगिताएं |
  • भाषाई एवं सांस्कृतिक विविधताओं को प्रदर्शित करने हेतु फैंसी ड्रेस एवं अन्य प्रतियोगिताएँ |

उपरोक्त के अलावा सभी शालाओं में शिक्षक अपनी शाला में बच्चों द्वारा बोली जाने वाली भाषाओं में दिन प्रतिदिन उपयोग में आने वाले शब्दों, वाक्यों, निर्देशों को डिक्शनरी के रूप में बड़ी कक्षाओं के बच्चों, माताओं, पालकों, स्व-सहायता समूहों के सदस्यों के सहयोग से तैयार कर अपनी शाला में रखेंगे | इस डिक्शनरी का उपयोग वे बच्चों की मातृभाषा में कुछ शब्दों वाक्यों का उपयोग कर उनसे बेहतर संबंध बनाने के लिए कर सकेंगे |

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया @ Telegram @ WhatsAppFacebook @ Twitter @ Youtube को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply