हमसे जुड़ें:

Telegram @ WhatsApp @ Facebook @ Twitter @ Youtube

Income Tax Return : आयकर रिटर्न

188

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Income Tax Return आयकर रिटर्न : CBDT की ओर से जारी नया आईटीआर फॉर्म इस लिंक पर उपलब्ध है. https://egazette.nic.in/WriteReadData/2021/226336.pdf
इस लिंक से इस फॉर्म को डाउनलोड किया जा सकता है। कोरोना वायरस को देखते हुए आईटीआर फॉर्म में खास बदलाव नहीं किया गया है, जैसा कि पिछली बार किया गया था। सिर्फ बहुत जरूरी बदलाव किए गए हैं, जो आयकर की धारा 1961 में किसी तरह के संशोधन की वजह से करने पड़े हैं। आईटीआर फॉर्म भरने के तरीके में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है।

Income Tax Return: आयकर रिटर्न

इनकम टैक्‍स रिटर्न फॉर्म-1 और फॉर्म 4 सबसे आसान हैं. इनका इस्तेमाल छोटे और मझोले करदाता करते हैं. सालाना 50 लाख रुपये तक की आय वाले टैक्‍सपेयर्स सहज यानी फॉर्म-1 का इस्तेमाल कर आईटीआर दाखिल लोग करते हैं. साथ ही सिर्फ वेतन, एक घर या ब्याज से आय पाने वाले करदाता भी सहज फॉर्म से आईटीआर फाइल करते हैं.

वहीं, आईटीआर दाखिल करने के लिए सुगम यानी फॉर्म-4 का इस्‍तेमाल 50 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी वाले हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) और फर्म करती हैं. साथ ही कारोबार या प्रोफेशन से आय हासिल करने वाले लोग भी इसी फॉर्म के जरिये आईटीआर भरते हैं।

आईटीआर-1 (सहज): छोटे एवं मध्यम करदाता, जिनकी सालाना आय 50 लाख रुपये तक है. साथ ही जिनका कमाई का जरिया सिर्फ वेतन और एक घर या ब्याज जैसे अन्य सोर्स है।

आईटीआर-4 (सुगम): यह फॉर्म हिंदू अविभाजित परिवार और कंपनियों की ओर से भरा जाता है, जिनकी किसी कारोबार या प्रोफेशन से सालाना कमाई 50 लाख रुपये तक हो।

आईटीआर-2: जिन व्यक्तिगत करदाताओं और हिंदू अविभाजित परिवार की कमाई किसी कारोबार या प्रोफेशन से न हो. साथ ही वह सहज फॉर्म भरने की योग्यता न रखते हों।

आईटीआर-3: जिन व्यक्तिगत करदाताओं और हिंदू अविभाजित परिवार की कमाई किसी कारोबार या प्रोफेशन से हों।

आईटीआर-5: हिंदू अविभाजित परिवार, भागीदारी वाली कंपनियां, एलएलपी इसे भर सकती हैं।

आईटीआर-6: कंपनियां इसे भर सकती हैं ।

आईटीआर-7: कारोबार या प्रोफेशन से आय हासिल नहीं करने वाले व्‍यक्तिगत करदाता या हिंदू अवि‍भाजित परिवार आईटीआर-2 व आईटीआर-3 के जरिये इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल कर सकते हैं। व्‍यक्तिगत करदाता, हिंदू अविभाजित परिवार और कंपनियों के अलावा पार्टनरशिप फर्म, एलएलपी आईटीआर-5 फॉर्म भर सकते हैं. कंपनियां आईटीआर फॉर्म-6 भर सकती हैं. आयकर अधिनियम के तहत छूट का दावा करने वाली ट्रस्ट, राजनीतिक पार्टियां और चैरिटेबल इंस्टिट्यूशन आईटीआर फॉर्म-7 के जरिये आईटीआर फाइल कर सकती हैं।

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया @ Telegram @ WhatsAppFacebook @ Twitter @ Youtube को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.