आकलन एवं मूल्यांकन

हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)

यहाँ पर हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix) किन किन पैमानों पर होती है इसके बारें में तालिकाबद्ध जानकारी दिया जा रहा हैं जिसे प्राइमरी स्कूल के शिक्षक संदर्शिका से उद्धृत किया जा रहा हैं उससे पहले ग्रेडिंग के विषय सामान्य समझ विकसित कर लेते हैं .

मूल्यांकन में ग्रेडिंग क्या है ?

Grading ज्ञात करने के लिए किसी विद्यार्थी में निहित दक्षता को अंकों के बजाय अंग्रेजी के कैपिटल अक्षर ग्रेडों में बताया जाता है और उसके बाद समस्त दक्षताओं का औसत निकाला जाता है। सत संख्या को ग्रेड बिंदु औसत (Grade Point Average ) कहते हैं। नोट – यदि ग्रेड बिंदु 4.5 या 4.5 से अधिक होती है तो उसे A ग्रेड देते है, यदि वह 3.5 या 3.5 से अधिक होता है तो उसे B ग्रेड देते हैं।

ए ग्रेड 80 से 100 फीसदी अंक वाले, बी ग्रेड में 60 से 80 फीसदी वाले, सी ग्रेड में 40 से 60 फीसदी अंक वाले, डी ग्रेड में 20 से 40 फीसदी अंक वाले और ई ग्रेड में 0 से 20 फीसदी अंक वाले होंगे।

सुनने और बोलने की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)
सुनने और बोलने की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

पढ़ने और लिखने की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)
पढ़ने और लिखने की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

व्यावहारिक व्याकरण की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)
व्यावहारिक व्याकरण की दक्षता के आधार पर हिंदी के रूब्रिक्स

FOLLOW – Edudepart.com

शिक्षा जगत से जुड़े हुए सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Edudepart.com पर विजिट करें और हमारे सोशल मिडिया को जॉइन करें। शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये आदेशों व निर्देशों का अपडेट के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

Please follow and like us:
Twitter
Visit Us
Follow Me
हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)
हिंदी विषय में ग्रेडिंग का आधार ( Hindi Subject Rubrix)

You cannot copy content of this page

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial