Join Our Community

कक्षा 1 से 8 तक आकलन हेतु प्रश्न पत्र का निर्माण

सत्र 2021-22 में कक्षा 1 से 8 तक बच्चों के प्रगति के आकलन हेतु प्रश्न पत्र का निर्माण किस प्रकार किया जाना चाहिए इस पोस्ट में हम विस्तार से चर्चा करेंगे।

कक्षा 1 से 8 तक आकलन हेतु प्रश्न पत्र का निर्माण

  • कक्षा 3 से 8 तक प्रत्येक विषय के 3 खण्ड अ, ब एवं स होंगे।
  • प्रत्येक विषय के प्रश्न पत्र में कुल प्रश्नों की संख्या 17 होगी ।
  • प्रत्येक कक्षा के प्रत्येक विषय में 01 प्रश्न पत्र बनाया जाएगा, जिसमें 03 खण्ड होंगे।
  • खण्ड अ में 30 अंक, खण्ड ब में 12 अंक, खण्ड स में 08 अंक निर्धारित हैं।
  • बेसलाइन आकलन खण्ड अ से ही किया जाएगा यदि विद्यार्थी खण्ड अ में 33 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त करता है तो खण्ड ब एवं खण्ड स से विद्यार्थियों का कक्षा स्तर निर्धारित किया जाएगा।
  • ग्रेड का निर्धारण खण्ड अ के प्राप्तांकों पर किया जाएगा।

प्रश्न पत्र का प्रारूप

(बेसलाइन, मिडलाइन एवं एंडलाइन)

कक्षाखंड अखंड बखंड स
अंक301208
प्रश्नों की संख्या100403

खण्ड अ में

जिस कक्षा की परीक्षा लेनी है उसी के प्रश्न होंगे।

खण्ड ब में

इस खण्ड में निर्धारित कक्षा से 2 स्तर नीचे की कक्षा के प्रश्न होंगे।

खण्ड स में

खण्ड ब से 2 स्तर नीचे की कक्षा के प्रश्न होंगे।

कक्षा 1 से 8 तक आकलन हेतु प्रश्न पत्र का निर्माण
  • उपरोक्त नियम से कक्षा 5 से 8 तक के प्रश्न पत्रों का निर्माण किया जाएगा।
  • कक्षा 4 एवं उससे नीचे की कक्षाओं के लिए खण्ड ब और खण्ड स में 1-1 स्तर नीचे के प्रश्नों का समावेश किया जाएगा।
  • कक्षा 2 के प्रश्न पत्र में अ और ब केवल 2 ही खण्ड होंगे।
  • कक्षा 1 ली के प्रश्न पत्र में कोई खण्ड नहीं होगा।
  • सेतु पाठ्यक्रम पर आधारित बेसलाइन आकलन में भी इन्हीं नियमों का पालन किया जाएगा।
  • कक्षा 1 के बच्चों का हिंदी, गणित एवं अंग्रेजी का बेसलाइन आकलन उनके पूर्व ज्ञान के आधार पर गतिविधि आधारित/मौखिक/क्रिएटिव वर्क जैसे- हिंदी में कविता सुनाना, अभिनय करना, चित्र बनाना।
  • गणित विषय में छोटा-बड़ा छाँटना, कंकड़ पत्थर एकत्रित करना तथा अंग्रेजी में दैनिक जीवन में उपयोग आने वाली अंग्रेजी शब्दों का उपयोग करना आदि।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.