पेंशन नियमावली व सेवानिवृत्ति या मृत्यु हितलाभ ।
पेंशन नियमावली व सेवानिवृत्ति या मृत्यु हितलाभ ।

शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता ( Effectiveness of Teacher Training)

यहां पर हम शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता ( Effectiveness of Teacher Training) के बारे में चर्चा करने वाले हैं । कोई शिक्षक साथी यदि इस विषय पर अपनी राय देना चाहता है तो पोस्ट के नीचे कमेंट कर सकते हैं।

यह कहना गलत होगा कि शिक्षक प्रशिक्षण का कोई महत्व नहीं होता और सभी शिक्षक प्रशिक्षण को लेकर की गंभीर नहीं होते। लेकिन फिर भी ऐसी क्या आवश्यकता बन पड़ती है कि बार बार शिक्षकों की प्रशिक्षण लगाई जाती है।

प्रशिक्षण से शिक्षकों जो लाभ मिलना चाहिए वह लाभ नहीं मिल पाता। कहने की बात यह है कि शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता में आशातीत कम परिणाम देखने को मिलता है।

शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता ( Effectiveness of Teacher Training)
Google से लिया गया चित्र

शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता को लेकर प्रश्न

कुछ बातें जिन्हें हमें अपने-अपने क्षेत्र में प्रशिक्षण आदि आयोजित होते समय इन प्रश्न का विचार करना चाहिए, ये हैं-

  • क्या प्रशिक्षण कार्यक्रम ठीक निर्धारित समय प्रारंभ हो जाता है?
  • क्या सभी प्रतिभागियों को समय पर प्रशिक्षण में उपस्थित होने का कल्चर विकसित हो पाई है ?
  • प्रतिभागियों को यह महसूस होता है कि उन्होंने देर से आकर बहुत कुछ खोया है?
  • क्या पूरे प्रशिक्षण कार्यक्रम की डिजाइन इस प्रकार होता है कि मिनट टू मिनट कायों के लिए पूरी तैयारी हो ?
  • क्या प्रशिक्षण में ऐसा तो नहीं होता है कि प्रतिभागीयों का एक मिनट भी व्यर्थ में जाया हो ?
  • क्या प्रशिक्षक में यह गुण होता है कि वे सभी प्रतिभागियों को बांधे रख सकें और सभी उनकी बातों पर ध्यान दें ?
  • क्या प्रतिभागियों को बेहतर कार्यों के लिए प्रोत्साहित किया जाता है और एक दूसरे के बेहतर कार्यों की शेयरिंग के लिए भी मंच उपलब्ध कराया जाता है ?
  • क्या प्रशिक्षण में टेक्नोलोजी का बेहतर उपयोग सुनिश्चित किया जाता है और अच्छे वीडियोज दिखाई जाती है?
  • क्या स्रोत व्यक्तियों की अच्छी तैयारी होती है और एक ही समय में एक से अधिक स्त्रोत व्यक्ति उपलब्ध कराते हुए टीम टीचिंग को बढ़ावा मिलता है?
  • क्या प्रशिक्षण के दौरान अनावश्यक बहस करने वालों को प्रोत्साहित किया जाता है क्योंकि प्रशिक्षण की प्रासंगिकता सभी शिक्षक को कुछ न कुछ अपने साथ लेकर कक्षा में उपयोग करने की है|
  • क्या प्रशिक्षण के दौरान समूह में एक दूसरे के साथ कार्य करने हेतु एवं ब्रेनस्टोमिंग का अवसर अवश्य प्रदान किया जाता है ?
  • क्या हर बार अपने प्रशिक्षण में पिछले अनुभवों के आधार पर सुधार एवं परिवर्तन करने का मौका मिलता है ?

उपरोक्त प्रश्नों के उत्तर में यदि “हां” हैं तो इसमें कोई संदेह नहीं कि शिक्षण प्रशिक्षण की प्रभाविता नहीं बढ़ेगी । लेकिन यदि प्रश्न के उत्तर में “ना” है तो मामला गंभीर है और सही तरह से शिक्षण प्रशिक्षण की आज भी प्रबल आवश्यकता है।

हर प्रशिक्षण के अंत में कुछ लोगों को यह कहते अवश्य सुना होगा कि हमने आज तक जिन्दगी में ऐसा प्रशिक्षण कभी नहीं किया। इससे बेहतर और कोई प्रशिक्षण नहीं हो सकता ।

यदि आपके द्वारा लिए गए प्रशिक्षण का आपके लिए आगे कोई उपयोग नहीं है या आप कक्षा में बच्चों की बेहतरी के लिए प्रशिक्षण का उपयोग नहीं कर के हैं तो वाकई में ऐसे प्रशिक्षण का कोई उपयोग नहीं है। ऐसा बोलने वाले लोग ही प्रशिक्षण को बेहतर करने से रोकते हैं और प्रशिक्षकों को गलत फीडबैक देकर उनमें अनावश्यक वहम भी भरते हैं।

प्रशिक्षण के माध्यम कक्षाओं में सुधार के लिए हमेशा सही-सही फीडबैक भरना चाहिए। शिक्षक प्रशिक्षण की प्रभाविता पर आप क्या मानते हैं अपने विचार जरूर रखें।

Leave a Reply