बबीता चौधरी

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक – श्रीमती बबीता चौधरी

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक – श्रीमती बबीता चौधरी

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक – श्रीमती बबीता चौधरी

शासकीय प्राथमिक शाला सेक्टर 4 बाल्को में पदस्थ श्रीमती बबीता चौधरी जो कि प्रभारी प्रधान पाठक के रूप में भी अपने दायित्वों का निर्वहन कर रही हैं, विद्यार्थियों की शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने हेतु प्रिंट रिच वातावरण तथा विभिन्न TLM का निर्माण किया है। अपनी शाला को स्मार्ट शाला के रूप में विकसित कर तकनीक के माध्यम से शिक्षा देने हेतु स्मार्ट बोर्ड का शुभारंभ किया ही था की वैश्विक महामारी कोविड-19 कोरोना के कारण लॉकडाउन जैसी परिस्थिति का सामना करना पड़ा।

इन्हीं परिस्थितियों में पढ़ई तुंहर दुआर के अंतर्गत cgschool.in में विभिन्न पाठों से संबंधित Videos Upload करने का अवसर मिला इसी अवसर पर उन्होने Babita online यूट्यूब चैनल के माध्यम से कक्षा 1 से 5 के गणित और अंग्रेजी विषयों के कई Videos अपलोड किए तथा उन वीडियोस को व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से विद्यार्थियों को भेजकर उन्हें देखकर सीखने हेतु प्रेरित करती रहीं ।

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

बच्चों को सीखने का तरीका बताते हुये कहती हैं कि cgschool.in, दीक्षा app, Google translator ,You tube , BOLO app, आदि तकनीकों की सहायता से हम बहुत कुछ सीख सकते हैं । बच्चों को सिखाने के लिए खेल गतिविधियों, कबाड़ से जुगाड TLM , कार्टून वीडियो, ऑगमेंटेड रियलिटी वीडियोस बनाकर उनका उपयोग करती आ रही हैं ।

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

Lockdown के समय प्रिंट रिच गांव के माध्यम से वॉल पेंटिंग कर शिक्षा देने का कार्य भी किया।

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

पीटीडी 2 के अंतर्गत 100दिन पठन कौशल के अंतर्गत बच्चों में कौशल विकास का कार्य जारी है।

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

वे कहती हैं कि उनके सभी कार्यों में शिक्षिका रेणु मैडम पूरा सहयोग करती हैं और वे दोनों अपने स्कूल के बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए लगातार कार्य कर रही हैं।

स्मार्ट शाला के रूप में विकसित करने वाली प्रेरक शिक्षक - श्रीमती बबीता चौधरी

उनका कहना है कि हमें गर्व है कि देश के राष्ट्र निर्माताओं की नींव बनाने का सौ-भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। हमारी यही इच्छा रहती है कि मजबूत नींव बना सकें ताकि भविष्य में हमारे बच्चे,हमारा जिला,राज्य और हमारा देश भी मजबूती से आगे बढ़ सके।


श्रीमती बबीता चौधरी
सहायक शिक्षक (न. नि.)
शा. प्रा. शाला सेक्टर 04 बालको
वि.ख. एवं जिला- कोरबा(छ.ग.)

Leave a Reply